मेरठ: कांवड़ यात्रा के बाद रूट डायवर्जन खत्म, भैसाली बस अड्डे से बसों का परिचालन शुरू, कल से खुल जायेंगे स्कूल और कॉलेज

कांवड़ यात्रा समाप्त होने के बाद रूट डायवर्जन को रोक दिया गया है। वहीं, कांवड़ यात्रा के मद्देनजर बंद किए गए सभी स्कूल-कॉलेज कल यानि गुरुवार से खुल जायेंगे। रैपिड रेल का काम आज से शुरू हो जाएगा। बसों का संचालन भैसाली डिपो से ही शुरू हो गया।
 | 
mrt
कांवड़ यात्रा समाप्त होने के बाद मंगलवार रात 12 बजे के बाद भैसाली डिपो से दिल्ली-हरिद्वार, देहरादून, बिजनौर, कोटद्वार शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, बड़ौत के लिए बसों का संचालन शुरू हो गया है। डायवर्जन खत्म होने के बाद कम दूरी के चलते ज्यादातर रूटों पर किराए की पुरानी दरें लागू कर दी गई हैं। वहीं, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे, दिल्ली-दून हाईवे समेत सभी प्रमुख रूटों पर ट्रैफिक सामान्य हो गया है।Read Also:-मेरठ : चंद ही सेकंड में मौत का कारण बना मिनी ट्रक, बाइक सवार की मिनी ट्रक से कुचलकर दर्दनाक मौत, CCTV में कैद हुआ हादसा

 

कांवड़ यात्रा के चलते भैसाली रोडवेज बस स्टैंड को सोहराब गेट पर स्थानांतरित कर दिया गया था। अधिकांश रूटों पर डायवर्जन के कारण बसों को लंबी दूरी तय करनी पड़ी। इससे यात्रियों की जेब पर अतिरिक्त बोझ पड़ रहा था। भैसाली रोडवेज बस स्टैंड के आरएम केके शर्मा का कहना है कि अब व्यवस्था पहले की तरह सुचारू हो गई है। 

 

रात में ही बैरिकेड्स हटा दिए गए 
नगर निगम ने मंगलवार रात को ही शहर के अंदर कट को बंद करने के लिए दिल्ली रोड, गढ़ रोड, हापुड़ रोड पर लगे बैरिकेड्स हटाने का काम शुरू कर दिया। मुख्य अभियंता यशवंत कुमार का कहना है कि ठेकेदार को अनुबंध की शर्तों का पालन करने का निर्देश दिया गया था।

 

कल से खुल जायेंगे स्कूल-कॉलेज
कांवड़ यात्रा को देखते हुए बंद किए गए सभी स्कूल-कॉलेज गुरुवार से खुल जाएंगे। डीएम के आदेश के अनुसार 19 जुलाई को सभी शिक्षण संस्थानों में अवकाश घोषित किया गया था। वहीं कल से परिषदीय विद्यालय भी खुलेंगे। बेसिक शिक्षा अधिकारी योगेंद्र सिंह ने बताया कि अब स्कूलों का समय सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक चलेगा, जबकि अभी तक स्कूलों में 12.30 बजे छुट्टी होती थी। 

 

आज से रैपिड रेल के काम को भी मिलेगी गति 
कांवड़ यात्रा समाप्त होने के बाद जिले में रैपिड रेल चलाने का कार्य आज से शुरू हो जाएगा। एहतियात के तौर पर दिल्ली रोड पर निर्माण कार्य पांच दिनों के लिए रोक दिया गया था। शताब्दीनगर स्थित कास्टिंग यार्ड में ही मजदूरों द्वारा काम कराया जा रहा था।

 

दिल्ली से मेरठ के बीच करीब 82 किलोमीटर रैपिड रेल का निर्माण कार्य जारी है। मेरठ में करीब छह किलोमीटर की भूमिगत सुरंग भी बनाई जा रही है। कांवड़ यात्रा के कारण काम रुका हुआ था।

 

मेरठ में स्टेशनों का तेजी से निर्माण
पहले चरण में साहिबाबाद से दुहाई तक रैपिड रेल का ट्रायल अक्टूबर में होना है।  वहीं मेरठ में भी एलिवेटेड स्टेशनों का निर्माण कार्य किया जा रहा है। इसमें ब्रह्मपुरी, शताब्दीनगर, परतापुर, मेरठ दक्षिण स्टेशनों के निर्माण का कार्य किया जा रहा है। रैपिड रेल ब्रह्मपुरी स्टेशन से आगे भूमिगत हो जाएगी।   garauv

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।