कार्बन रिसाइकिलिंग इंटरनेशनल (सीआरआई) और दस्तूर एनर्जी ने भारत में मेथनॉल परियोजनाओं के लिए सीओ2 (CO2) का विकास करने के लिए साझेदारी की

 | 
Business Wire India
आइसलैंड की पर्यावरण प्रौद्योगिकी कंपनी, कार्बन रिसाइक्लिंग इंटरनेशनल (सीआरआई) और अमेरिकी आधार वाली दस्तूर एनर्जी की भारतीय सहायक कंपनी, दस्तूर एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड और दस्तूर समूह की कंपनियों के एक भाग ने विपणन, कारोबार विकास, प्रौद्योगिकी लाइसेंसिंग, डिजाइन और सीओ2 (CO2) से मेथनॉल परियोजनाओं की इंजीनियरिंग के लिए एक महत्वपूर्ण साझेदारी की है। भारत में यह करार सीआरआई की ईटीएल तकनीक पर आधारित होगा।
 
कार्बन रिसाइक्लिंग इंटरनेशनल (सीआरआई) ने पिछले 15 वर्षों से वैश्विक कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन के उपयोग में अपनी अग्रणी स्थिति बनाई है और इसमें इसका स्थान अद्वितीय है। कंपनी की ईटीएल तकनीक उद्योग द्वारा जारी कार्बन डाइऑक्साइड के मेथनॉल में रूपांतरण पर आधारित है, जो कच्चे माल के रूप में पेट्रोलियम की जगह लेती है और इसलिए, पर्यावरण पर इसका प्रभाव बहुत कम होता है।
 
दस्तूर एक अग्रणी अंतरराष्ट्रीय परामर्श इंजीनियरिंग फर्म है जिसकी स्थापना 1955 में धातु, खनन, बुनियादी ढांचे और ऊर्जा उद्योग पर ध्यान केंद्रित करते हुए की गई थी। इसका मुख्यालय कोलकाता, भारत में है, जिसके कार्यालय दुनिया भर में हैं। दस्तूर एनर्जी, स्वच्छ ऊर्जा और ऊर्जा संरचना परियोजनाओं में सुविज्ञ है और कार्बन कैप्चर तथा औद्योगिक डीकार्बोनाइजेशन के क्षेत्र में भारत के अग्रणी संगठनों में एक है।
 
भारत में मेथनॉल की बिक्री तेजी से बढ़ रही है और अब यह सालाना लगभग 2.5 मिलियन टन है। बाजार का आकार 10 वर्षों के भीतर प्रति वर्ष 7.5 मिलियन टन से अधिक हो जाने की उम्मीद है। भारत सरकार वायु प्रदूषण और ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को कम करने के लिए ईंधन के रूप में मेथनॉल के बढ़ते उपयोग का समर्थन करती है। इसका उद्देश्य अर्थव्यवस्था में घरेलू ऊर्जा स्रोतों की हिस्सेदारी बढ़ाना भी है।
 
दस्तूर एनर्जी और दस्तूर के सीईओ अतनु मुखर्जी ने कहा, "कार्बन डाइऑक्साइड के उपयोग के लिए आर्थिक रूप से व्यवहार्य तरीके कार्बन उत्सर्जन कम करने के वैश्विक प्रयासों में तेजी लाने के लिए महत्वपूर्ण हैं। हम भारत में मेथनॉल के निरंतर उत्पादन के लिए महत्वपूर्ण अवसर देखते हैं। सीआरआई का ईटीएल प्रौद्योगिकी समाधान आज दुनिया में सबसे उन्नत में से एक है। ग्रीन मेथनॉल को अपने उत्पाद पेशकश के भाग के रूप में चाहने वाली सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों की प्रगतिशील भारतीय कंपनियों के लिए सीआरआई के साथ सहयोग करके हमें प्रसन्नता हो रही है।"
 
सीआरआई की ईटीएल तकनीक पर आधारित दो प्रमुख परियोजनाएं चल रही हैं। इस समय चीन में निर्माणाधीन दो संयंत्र प्रति वर्ष, प्रत्येक 100,000 टन से अधिक मेथनॉल का उत्पादन करेंगे। इसमें हर साल कच्चे माल के रूप में सालाना 150,000 मीट्रिक टन कार्बन डाइऑक्साइड का सीधे उपयोग होगा।
 
सीआरआई के सीईओ ब्योर्क क्रिस्टजन्सडॉटिर ने कहा, "सीआरआई और दस्तूर के बीच एक मजबूत साझेदारी एक नए बाजार में हमारे स्थायी प्रौद्योगिकी समाधानों के प्रवेश और तैनाती में तेजी लाना संभव बनाती है। यह एक ऐसा बाजार है जहां विकास के महान अवसर हैं। सीआरआई द्वारा विकसित पर्यावरण के अनुकूल प्रौद्योगिकियां आगे उद्योग और ऊर्जा बाजारों में आवश्यक परिवर्तन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। भारतीय बाजार में आइसलैंडिक पर्यावरण प्रौद्योगिकी को देखकर खुशी होगी।"
 
स्रोत रूपांतर Businesswire.com पर देखें: https://www.businesswire.com/news/home/20220914005880/en/
 
संपर्क :
दस्तूर एनर्जी
http://www.dasturenergy.com/
यूएसए: अभिजीत सरकार
+1 512.823.0398  
Abhijit.S@dasturenergy.com
भारत: सौरव चटर्जी
+91 98313 04985
Saurav.Ch@dastur.com
सीआरआई
https:// www.carbonrecycling.is/
आइसलैंड: उमर सिगर्बजॉर्नसन
+354 865 5736
omar@cri.is
 
घोषणा (अस्वीकरण): इस घोषणा की मूलस्रोत भाषा का यह आधिकारिक, अधिकृत रूपांतर है। अनुवाद सिर्फ सुविधा के लिए मुहैया कराए जाते हैं और उनका स्रोत भाषा के आलेख से संदर्भ लिया जा सकता है और यह आलेख का एकमात्र रूप है जिसका कानूनी प्रभाव हो सकता है।
कार्बन रिसाइकिलिंग इंटरनेशनल (सीआरआई) और दस्तूर एनर्जी ने भारत में मेथनॉल परियोजनाओं के लिए सीओ2 (CO2) का विकास करने के लिए साझेदारी की

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।