मेरठ : यौन शोषण (Sexual Assault) मामले में अमेरिकी नागरिक फरार, अमेरिका से रेड कॉर्नर नोटिस जारी; एसटीएफ (STF) मेरठ ने आगरा से पकड़ा

एसटीएफ मेरठ ने शनिवार को अमेरिका से फरार नागरिक रत्नेश भूटानी को गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी आगरा से की गई है। रत्नेश भूटानी यौन शोषण के मामले में फरार था।
 | 
USA

एसटीएफ मेरठ ने शनिवार को अमेरिका से फरार नागरिक रत्नेश भूटानी को गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी आगरा से की गई है। रत्नेश भूटानी यौन शोषण के मामले में फरार था। अमेरिका की ओर से रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था।Read Also:-काम की खबर : ड्राइविंग लाइसेंस हो या वाहन का पंजीकरण, आरटीओ (RTO) से जुड़ी 58 सेवाओं के लिए उपलब्ध यह नई सुविधा

यह नागरिक मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद (Modinagar) का रहने वाला है, जिसने एक अमेरिकी लड़की से शादी की है। बाद में वहां की नागरिकता भी ले ली। लेकिन यौन शोषण में नाम आने के बाद वह वहां से फरार हो गया और लंदन पहुंच गया।  जिसके बाद वह फिर से भारत आ गया और यहां आकर रहने लगा।

 

देश की कई एजेंसियां ​​तलाश रही थीं
एसटीएफ मेरठ के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार सिंह के अनुसार, इंटरपोल सीबीआई के डीओ 27 जुलाई 2022 के मामले में एफबीआई (USA) से वांछित अमेरिकी नागरिक रत्नेश भूटानी (45 वर्ष) पुत्र हर प्रसाद भूटानी को गिरफ्तार किया गया था। असली पता मोदीनगर गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश। है। यह गिरफ्तारी आगरा के हरिपर्वत थाना क्षेत्र में की गई है। 

 

विदेश मंत्रालय में संयुक्त राज्य अमेरिका के एक अमेरिकी नागरिक रत्नेश भूटानी यौन उत्पीड़न (Sexual Assault) में वांछित था। जिसके खिलाफ अमेरिका की ओर से रेड कॉर्नर नैटेसी भी जारी की गई थी। जिसे गिरफ्तार कर प्रत्यर्पण का अनुरोध किया गया था।

 

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ने एसटीएफ को सौंपी जिम्मेदारी
आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए देश की कई एजेंसियां ​​लगी हुई थीं। आरोपी उत्तर प्रदेश का रहने वाला था और मेरठ का रहरहा था। जिसके लिए डीजीपी ने एसटीएफ मेरठ को लगाया। एसटीएफ को पता चला कि मेरठ के कंकरखेड़ा स्थित होटल अमनताश का मालिक मेरठ का रत्नेश भूटानी है।

 

पूरे राज्य की एसटीएफ के अलावा देश की अन्य एजेंसियां ​​भी इस आरोपी की तलाश में लगी हुई थी। कुछ समय से यह आरोपी आगरा में केनरा बैंक के क्षेत्रीय कार्यालय के पास रह रहा था।

 

1996 में काम करने कैलिफोर्निया गया था 
एसटीएफ के मुताबिक आरोपी रत्नेश भूटानी 1996-97 में कैलिफोर्निया गया था। जहां उनके चाचा रहते थे। जिसके बाद रत्नेश ने एक लड़की से शादी कर ली। वहां की लड़की से शादी करने के बाद रत्नेश भूटानी को वहां की नागरिकता मिल गई। वहां केस होने के बाद 2006 में वह पहली बार लंदन पहुंचा और वहां से फिर भारत भाग आया।

 

सन 2007 में, केशव फिल्म्स के नाम से मुंबई में एक फिल्म निर्माण कंपनी बनाई गई थी। आरोपी ने अपने भाई ऋषि भूटानी को फिल्म बोलो राम से लॉन्च किया था। आरोपी के फरार होने का मामला जब सुर्खियों में आया तो ये मुंबई से भी फरार हो गया। और यह मेरठ, आगरा और गुरुग्राम में छिपने लगा।

 

एसटीएफ मेरठ के एसपी कुलदीप नारायण के मुताबिक आरोपी रत्नेश भूटानी ने मेरठ में एनएच 58 पर अमनतास होटल एंड रिजॉर्ट का काम शुरू किया था। कुछ समय बाद यह होटल और रिसॉर्ट साहिबाबाद में रहने वाले एक व्यक्ति को लीज पर दे दिया गया। लॉकडाउन में विवाद हुआ, जहां होटल के किराएदार से मामला सुलझ गया। 2022 में होटल में हुए विवाद के बाद पुलिस ने इसे हिरासत में लिया थाऔर फिर छोड़ दिया था।
sonu

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।