मेरठ : मुहर्रम के जुलूसों को लेकर रहेगी कड़ी सुरक्षा वयवस्था, पीएसी (PAC) के साथ आरएएफ (RAF) हर जगह होगी तैनात, 2 साल से नहीं निकला था मुहर्रम का जुलूस

मुहर्रम के जुलूस को लेकर शहर और देहात में सुरक्षा कड़ी रहेगी। इस संबंध में आईजी रेंज प्रवीण कुमार ने रेंज के सभी पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा संबंधी सख्त निर्देश दिए हैं। 
 | 
Muharram processions
मुहर्रम के जुलूस को लेकर शहर और देहात में सुरक्षा कड़ी रहेगी. इस संबंध में आईजी रेंज प्रवीण कुमार ने रेंज के साथी पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा संबंधी सख्त निर्देश दिए हैं. अब्दुल्लापुर के जुलूस में मेरठ शहर के अलावा पीएसी के साथ आरएएफ भी तैनात रहेगा. पिछले दो वर्षों में कोरोना के कारण कार्यक्रमों की अनुमति नहीं दी गई।Read Also:-   उत्तर प्रदेश में बिजली के नए रेट आज से लागू, इन उपभोक्ताओं को मिलेगी राहत, कम होंगे बिल,​

सख्त पहरा होगा 
एसएसपी रोहित सिंह सजवान ने बताया कि आगामी त्योहार को लेकर सुरक्षा संबंधी कड़े निर्देश दिए गए हैं। मुहर्रम के जुलूस को लेकर सुरक्षा योजना तैयार की गई है। पारंपरिक कार्यक्रमों के अलावा किसी भी नए कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी जाएगी। मुहर्रम की 10 तारीख को पुलिस बल की मौजूदगी में अब्दुल्लापुर में जुलूस निकाला जाएगा। 

 

मुहर्रम की 10 तारीख को अब्दुल्लापुर में पुलिस बल की मौजूदगी में जुलूस निकाला जाता है। जिसमें सोगवार ने जंजीरी का मातम मनाते हुए खुद को लहूलुहान कर लिया जाता है। प्रातःकाल में आमाले आशूर करवाया जाता है और दोपहर में इमामबाड़े से एक बड़ी कदीमी ताजिया इमामबारगाह से बरामद की जाती है। इस दौरान हिंदुस्तान जिंदाबाद, लब्बैक या हुसैन और हुसैनियत जिंदाबाद  जिंदाबाद के नारे लगाते हुए सोगवार जंजीरों से मातम करते हुए आगे बढ़ते हैं।
garauv

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।