उत्तर प्रदेश के 33 हजार से ज्यादा किसानों का कर्ज हुआ माफ, बिजली के बकाया बिलों में भी राहत, कृषि मंत्री ने किया ऐलान

 कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही शनिवार सुबह वाराणसी पहुंचे। सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में कृषि मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के किसानों को अब बिजली के बकाया बिलों के लिए जेल नहीं भेजा जाएगा। 
 | 
agree
उत्तर प्रदेश के 19 जिलों के 33 हजार से ज्यादा किसानों को नए साल में बड़ी खुशखबरी मिली है। किसानों का 190 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया जा रहा है। शनिवार को वाराणसी पहुंचे कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने यह घोषणा की। सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में कृषि मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश के किसानों को अब बिजली के बकाया बिलों के लिए जेल भी नहीं भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि ट्यूबवेल का बकाया होने के बाद भी उसका बिजली कनेक्शन नहीं काटा जाएगा। किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान पर बिजली उपलब्ध करायी जा रही है। Read Also:-उत्तर प्रदेश के इस शहर में ई-साइकिल से सफर होगा आसान, एक जगह से उठाकर दूसरी जगह करदे पार्क, जानिए कब से शुरू हो रहा है प्लान

 

मंत्री ने आगे बताया कि राज्य सरकार 19 जिलों के 33000 किसानों का 190 करोड़ रुपये का कर्ज माफ कर रही है। कृषि मंत्री ने बताया कि 2017 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद कैबिनेट में किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया गया था। इसके तहत लाखों किसानों का कर्ज माफ किया गया। उस दौरान किन्हीं कारणों से छूटे हुए 33408 किसानों का 190 करोड़ रुपये की कर्जमाफी भी की जाएगी। सरकार ने इस संबंध में गजट जारी कर दिया है।

मोटे अनाज को बढ़ावा दिया जाएगा। आने वाले दिनों में बाजरा को बढ़ावा मिलेगा। इसके लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य उच्चतम दरों पर तय किया जा रहा है। इसकी नीति मकर संक्रांति के बाद तैयार की जाएगी।

 

 कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की देखरेख में देश और प्रदेश का किसान प्रगति कर रहा है। आजादी के बाद पहली बार तीन गुना अधिक खाद्यान्न उपार्जन का लक्ष्य रखा गया है।

कृषि मंत्री ने दावा किया कि आने वाले दिनों में तिलहन उत्पादन मील का पत्थर साबित होगा। किसानों को हर सुविधा मुहैया कराई जा रही है। प्रदेश में यूरिया और डीएपी की कोई कमी नहीं है।

 sonu

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।