उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के मंत्री संजय निषाद का विवादास्पद बयान, बोले- मंदिर के पास बनी मस्जिद हटाई जाए, मदरसों से है आतंकियों का नाता

उत्तर प्रदेश के मंत्री संजय निषाद का विवादित बयान, कहा- मंदिर के पास बनी मस्जिद को हटाया जाए, आतंकियों के मदरसों से संबंध हैं
 | 
bag
भारतीय जनता पार्टी सरकार के मंत्री और निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय निषाद ने मदरसों और मस्जिदों को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भारत में मंदिरों के पास बनी मस्जिदों को हटा देना चाहिए। साथ ही मंदिर की जगह बनी मस्जिदों को भी शिफ्ट किया जाए।Read Also:-आज भेड़-बकरियों की तरह बिकने को तैयार हैं विधायक...गोवा के इस विधायक ने भारतीय जनता पार्टी पर जमकर उतरा गुस्सा

 

उन्होंने यह भी कहा कि मदरसे से हमेशा आतंकवाद और अपराधियों का नाता ही निकलता है। ऐसे में मदरसों का सर्वे करने का सरकार का फैसला बिल्कुल सही है।  बता दें, मंत्री बनने के बाद डॉ. संजय निषाद बागपत पहुंचे थे। जहां उन्होंने ये बयान दिए।

 

मदरसा के बच्चे भी पढ़ते हैं अंग्रेजी और गणित
उन्होंने कहा, बीजेपी मदरसों के बच्चों को अच्छी शिक्षा देने की बात कर रही है।  जिस पर मुल्ला सोच रहे हैं कि अगर हमारे यहां के बच्चे पढ़ेंगे तो हमारी नहीं सुनेंगे। हम अपने इशारे पर उन्माद नहीं फैलाएंगे। आप लोग एक बात देखिए... अभी तक जितने भी अपराधी, आतंकवादी मिले हैं, वे सभी मदरसे से जुड़े हुए हैं। 

 

वहां से ऐसे लोग निकल रहे हैं। इन लोगों को सर्वे की बात का स्वागत करना चाहिए। उनका समर्थन किया जाना चाहिए। मदरसो के बच्चों को विज्ञान, गणित और अंग्रेजी भी पढ़नी चाहिए। उन्हें उन्माद से अलग कुछ सीखना चाहिए। ताकि वो भी देश के लिए कुछ काम कर सकें।

 

मंदिर के स्थान पर मंदिर ही होना चाहिए।
मंत्री संजय निषाद ने आगे कहा, भारत में भी मंदिरों के पास से मस्जिद हटा दी जानी चाहिए। मैं दुबई गया था, ऐसा नियम है। मस्जिद कहीं और भी बनाई जा सकती है। मंदिर के स्थान पर मंदिर होना चाहिए।

 

हाथी-साइकिल ने बढ़ाई गरीबी
उन्होंने विपक्ष को घेरते हुए कहा, एक रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा गरीबी मुसलमानों में है। विपक्षी दलों ने इन लोगों को गरीब बना दिया है। हाथी और साइकिल सरकार ने राज्य में गरीबी बढ़ा दी है। अनाज बांटकर मोदी-योगी की सरकार देश से गरीबी दूर कर रही है। मोदी-योगी घर दे रहे हैं, शिक्षा दे रहे हैं, इलाज दे रहे हैं। आज मुसलमानों को भी पता चल गया है कि कौन उनका दोस्त है और कौन उनका दुश्मन।

 

इससे पहले डॉक्टर संजय निषाद ने भगवान राम को लेकर विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था, भगवान राम अयोध्या के राजा दशरथ के पुत्र नहीं थे, बल्कि वे श्रृंगी ऋषि के पुत्र थे, जिन्होंने पुत्रेष्ठी यज्ञ किया था। भगवान राम को राजा दशरथ का तथाकथित पुत्र कहा जा सकता है, लेकिन वह उनके वास्तविक पुत्र नहीं थे।

 

संजय निषाद के अनुसार, जब राजा दशरथ के कोई संतान नहीं थी, तब उन्होंने श्रृंगी ऋषि के साथ एक यज्ञ किया था। यह यज्ञ केवल कहने के लिए था। कहा जाता है कि राजा दशरथ की तीनों रानियों के पुत्रों का जन्म श्रृंगी ऋषि द्वारा दी गई खीर से हुआ था, जबकि वास्तविकता यह है कि खीर खाने से कोई भी महिला गर्भवती नहीं हो सकती है।
sonu

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।