SP की वर्चुअल रैली : 2500 कार्यकर्ताओं पर मुकदमा, थानेदार सस्पेंड, SSP से मांगा जवाब, बड़े नेताओं पर नहीं हुई कोई कार्रवाई

UP Assembly election : उत्तर प्रदेश में चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक सभी प्रकार की रैलियों पर पाबंदी लगाई हुई है।
 | 
sp lucknow raily
UP Assembly election : लखनऊ में समाजवादी पार्टी ने वर्चुअल रैली के नाम पर हजारों की भीड़ इकट्‌ठा कर ली। वहीं, अखिलेश यादव ऊंची-ऊंची बातें कर कार्यकर्ताओं में जोश भरते नजर आए। परंतु अब यह सपा के लिए मामला कड़ा हो गया है।

 

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के लखनऊ कार्यालय पर हुई रैली में जमा हजारों लोगों पर चुनाव आयोग ने कार्रवाई कर दी है। वहां मौजूद करीब 2500 सपा कार्यकर्ताओं पर मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, उस थाना क्षेत्र के प्रभारी को सस्पेंड कर दिया गया है। इतना ही नहीं, एसएसपी से इस मामले में जवाब मांगा गया है। also read : Petrol-Diesel & Gold price 15 january : आज ये हैं पेट्रोल-डीजल का रेट, सोने की कीमत में गिरावट; चांदी महंगी हुई, देखें

sp

नेताओं पर कोई कार्रवाई नहीं

वर्चुअल रैली के नाम पर हुए इस सब में कार्रवाई तो हुई है। परंतु बड़े नेताओं को साइड कर दिया गया है। उनके खिलाफ किसी प्रकार जवाबदेही नहीं की गई है और ना ही अखिलेश सहित मंच पर मौजूद अन्य नेताओं पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

मौये हुए थे सपा में शामिल

जानकारी हो कि शुक्रवार को भाजपा में मंत्री पद से इस्तीफा देकर सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य सहित अन्य विधायकों ने शुक्रवार को सपा की सदस्यता ली। इस दौरान कार्यालय में कार्यक्रम रखा गया। मंच पर पीछे वर्चुअल रैली का बैनर टंगा था। परंतु वहा वर्चुअल जैसा कुछ नहीं था सब फिजिकल ही नजर आ रहा था। कार्यक्रम में कई हजार सपा कार्यकर्ता जमा थे। जो चुनाव आयोग के नियमों का उल्लंघन कर रहे थे।

 

नियम पालन करने की बात हवा हवाई

शुक्रवार को कार्यक्रम के दौरान ही अखिलेश यादव ने कहा था कि चुनाव आयोग के नियमों का पालन करेंगे.. लेकिन वर्चुअल का बैनर लगाकर अखिलेश यादव ने फिजिकल रैली की और शक्ति प्रदर्शन करने का काम किया सपा नेता नरेश उत्तम ने कहा, "यह कार्यक्रम वर्सुअल था, समाजवादी पार्टी ने किसी को नहीं बुलाया था, अगर बुलाया होता तो लाखों की संख्या में लोग आते। कोरोना के नियमों का कोई उल्लंघन नहीं है सभी लोग मास्क पहन कर आए। ''

 

आज चुनाव आयोग फिर बैठक करेगा

इन तमाम राजनीतिक बयानबाजियों के बीच एक बात तो साफ है कि अखिलेश यादव के आयोजन में चुनाव आयोग की रैलियों पर रोक के नियम को तोड़ा गया है.. और इसिलिए आयोग ने अफसरों पर कार्रवाई भी की है.. चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक रैली, रोड शो और बाइक-साइकिल रैली पर रोक लगायी थी। आज चुनाव आयोग एक बार फिर मीटिंग करने वाला है.. और रैलियों पर रोक की मियाद बढ़ाने या खत्म करने पर फैसला करेगा।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।