चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट

फ्लोरिडा के ऑरलैंडो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को पछाड़कर जेवर एयरपोर्ट दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनेगा

बजट

जेवर एयरपार्ट के निर्माण में 29 हजार 650 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

क्षेत्रफल

जेवर एयरपोर्ट 5845 हेक्टेयर जमीन पर बनेगा। पहले चरण में 1334 हेक्टेयर जमीन पर निर्माण होगा।

रनवे

यहां कुल 5 रनवे होंगे। फर्स्ट फेज में यहां दो यात्री टर्मिनल और दो रनवे बनाए जाएंगे। रनवे की लबाई 4 किमी से ज्यादा रहेगी।

बनेगा दिल्ली जैसा

जेवर एयरपोर्ट 2030 तक दिल्ली जैसा अंतरराष्ट्रीय आकार ले पाएगा।

पार्क होंगे 178 विमान

यहां 178 विमान पार्क करने के स्टैंड मौजूद होंगे।

घरेलू उड़ाने

जेवर एयरपोर्ट से शुरुआत में मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद व चेन्नई जैसी 8 घरेलू उड़ानें शुरू की जाएंगी।

कनेक्टिविटी

यह एयरपोर्ट चार एक्सप्रेसवे, मेट्रो, बुलेट ट्रेन व पॉड टैक्सी से जुड़ा होगा।

सबसे खास

मेट्रो और बुलेट ट्रेन का स्टेशन एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग में बनेगा

यात्री क्षमता

पहले साल करीब 40 लाख यात्रियों की आवाजाही रहेगी।