Connect with us

Hi, what are you looking for?

बिजनौर

बिजनौर में एसपी के सीयूजी नंबर पर आई कॉल कहा- पीएम को लालकिले पर नहीं फहराने देंगे तिरंगा, मुस्लिमों का अलग राष्ट्र बनाएंगे

अयोध्या में राममंदिर भूमिपूजन के बाद से लगातार कुछ लोग माहौल खराब करने पर आमादा हैं। हद तो यह है कि ऐसे लोग खुद पुलिस अफसरों के सीयूजी नम्बर पर कॉल कर भड़काऊ बातें कर रहे हैं। ताजा मामला वेस्ट यूपी के बिजनौर जिले का है। यह किसी शख्स ने एसपी बिजनौर संजीव त्यागी के नम्बर पर इंटरनेट के जरिए कॉल की। कॉल करने वाले शख्स ने अभिवादन के बाद मुस्लिमों को एकजुट होकर अलग मुल्क बनाने समेत कई भड़काऊ बातें कही। दोपहर में एक और कॉल आई, इस कॉल में एक महिला की आवाज थी। इसमें भी मुसलमानों को भड़काने वाली बातें कही गई। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ राजद्रोह के 2 मामले दर्ज किए हैं। उधर जबकि शामली जिले में भड़काऊ पोस्टरों के साथ एक पीएफआई सदस्य को गिरफ्तार किया है।

जानकारी के मुताबिक एसपी संजीव त्यागी के सीयूजी नंबर में एक कॉल आई। कॉल रिसीव करते ही कॉलर ने पहले तो कप्तान का अभिवादन किया फिर भड़काऊ बातें शुरू कर दीं। कॉल करने वाले ने कहा कि- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस बार स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले पर तिरंगा नहीं फहराने देंगे। इसके बाद बोला कि, भारत हिंदू राष्ट्र बनने की ओर है, ऐसे में मुस्लिमों को एकजुट होकर अलग राष्ट्र बनाना होगा। इस कॉल के बाद सर्विलांस टीम को जांच के लिए लगाया गया। पता चला कि यह इंटरनेट कॉल थी। रविवार दोपहर दो बजे फिर एसपी के सीयूजी नंबर पर इसी तरह की कॉल आई। इस कॉल में एक महिला की आवाज थी। इसमें भी मुसलमानों को भड़काने वाली बातें कही गई। एसपी के आदेश पर दोनों कॉल रिकार्ड के आधार पर पीआरओ अंशुमाली की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ राष्ट्रद्रोह की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

शामली में पीएफआई सदस्य गिरफ्तार

उधर शामली के कस्बा कैराना में रविवार सुबह नगर की भूरा चुंगी से पुलिस ने सरवर अली निवासी गांव गोगवान को 147 भड़काऊ पोस्टरों के साथ गिरफ्तार किया है। इन पोस्टरों पर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) समेत तीन संगठनों के नाम लिखे हैं। एसपी विनीत जायवाल का कहना है कि पकड़े गए आरोपी ने स्वयं को पीएफआई का सदस्य बताया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

Advertisement
DMCA.com Protection Status