Connect with us

Hi, what are you looking for?

टेक्नोलॉजी

Whatsapp विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने कहा – लोगों की निजता की रक्षा करना हमारा कर्तव्य, शपथ पत्र दो लोगों का डेटा नहीं शेयर करोगे

सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी (Whatsapp Privacy Policy) को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोगों में निजी जानकारी साझा करने को लेकर चिंता है और यह लोगों के लिए अहम है। ऐसे में व्हाट्एसेप को लिखित में देना होगा कि वह लोगों की निजी जानकारी तीसरे पक्ष के साथ साझा नहीं करेगा। कोर्ट ने फेसबुक और व्हाट्एसेप को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब देने को कहा है।

टूलकिट विवाद : दिशा रवि के करीबियों पर भी शिकंजा, समर्थन में विपक्ष से लेकर स्टूडेंट्स भी, जानें क्या है विवाद और क्या है टूलकिट

व्हाट्सऐप ने किया है अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव
दरअसल हाल ही में व्हाट्सऐप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किया है और नई पॉलिसी के तहत व्हाट्सऐप अब अपना डाटा फेसबुक के साथ शेयर करेगा। शुरूआत में यूजर्स को इस पॉलिसी को स्वीकार करने के लिए 8 फरवरी, 2021 तक का समय दिया गया था, अन्यथा उनका अकाउंट डिलीट या सस्पेंड करने की बात कही गई थी। हालांकि, यूजर्स के बढ़ते विरोध को देखते हुए कंपनी ने अंतिम तिथि को 15 मई तक के लिए बढ़ा दिया।

निजता के मौलिक अधिकार के खिलाफ है नई पॉलिसी- याचिकाकर्ता
व्हाट्सऐप की ओर से लाई गई नई पॉलिसी के खिलाफ हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी। अधिवक्ता श्याम दीवान के जरिए दाखिल की गई याचिका में कहा गया था कि व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी संविधान द्वारा दिए गए निजता के मौलिक अधिकार के खिलाफ है। इसी तरह पॉलिसी को लेकर यूरोप में भारत से अलग मापदंड रखते हैं। यह सही नहीं है और सुप्रीम कोर्ट को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए।

Advertisement. Scroll to continue reading.

लोगों की निजता की रक्षा करना हमारा कर्तव्य- सुप्रीम कोर्ट

HT के अनुसार, मामले की सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश (CJI) एसए बोबड़े की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने कहा, “लोगों में निजी जानकारी साझा करने को लेकर गहरी चिंता है। आप दो-तीन खरब डॉलर की कंपनी हो सकते हैं, लेकिन लोग अपनी निजता की कीमत इससे ज्यादा मानते हैं और उन्हें ऐसा मानने का हक है। लोगों की निजता की सुरक्षा करना हमारा कर्तव्य है।” कोर्ट ने कहा कि लोगों की निजता का हनन नहीं होना चाहिए।

व्हाट्सऐप को दिया लिखित में शपथ पत्र देने का आदेश
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि व्हाट्सऐप को लिखित में शपथ पत्र देना होगा कि वह लोगों की निजी जानकारी को किसी भी तीसरे पक्ष के साथ साझा नहीं कर रहा है और ना ही लोगों की निजता का हनन कर रहा है।इसके अलावा कोर्ट ने यूरोप के लिए अलग पॉलिसी बनाए जाने पर भी नाराजगी जताई और मामले में फेसबुक और व्हाट्सऐप को नोटिस जारी कर चार सप्ताह में जवाब प्रस्तुत करने को कहा है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

व्हाट्सऐप ने दी निजी डाटा साझा नहीं करने की दलील
व्हाट्सऐप की ओर से प्रस्तुत हुए वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि कंपनी की ओर से लोगों का कोई भी निजी और संवेदनशील डाटा शेयर नहीं किया जा रहा है। यह मामला अभी दिल्ली हाई कोर्ट में लंबित चल रहा है।इसी तरह सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा, “भले ही कानून हो या न हो, निजता का अधिकार मौलिक अधिकारों का हिस्सा है। व्हाट्सऐप को निजता के अधिकार की रक्षा करनी चाहिए और डाटा साझा नहीं करना चाहिए।”

दिल्ली हाईकोर्ट ने कही थी परेशानी होने पर उपयोग बंद करने की बात
मामले में 18 जनवरी को दिल्ली हाई कोर्ट में सुनवाई हुई थी। हाईकोर्ट ने यह कहते हुए नोटिस देने से इनकार कर दिया था कि व्हाट्सऐप निजी ऐप है और यदि इसकी नीतियों से समस्या है तो इसका उपयोग करना बंद कर सकते हैं।

Khabreelal News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… हमारी कम्युनिटी ज्वाइन करे, पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें

Advertisement. Scroll to continue reading.
Whatapp ग्रुप ज्वाइन करे Join
Youtube चैनल सब्सक्राइब करे Subscribe
Instagram पर फॉलो करे Follow
Faceboook Page फॉलो करे Follow
Tweeter पर फॉलो करे Follow
Telegram ग्रुप ज्वाइन करे Join
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

देश

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ दायर एक जनहित याचिका (PIL) को खारिज कर दिया। कोर्ट ने जस्टिस किशन...

टेक्नोलॉजी

WhatsApp की जिस प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर विवाद हुआ था उसे एक बार फिर नए सिरे से लागू करने की तैयारी कंपनी कर रही...

खबरीलाल

Whatsapp आजकल हर स्मार्टफोन यूजर चलता है। सभी अपने निजी और व्यावसायिक कामों के लिए ऐप का उपयोग करते हैं। अभी तक व्यक्ति को...

देश

जेल में बंद आरोपी को छुड़ाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक वकील ने अपने मुवक्किल के खराब स्वास्थ्य की दलील दी। वकील ने...

टेक्नोलॉजी

WhatsApp delays updated privacy policy: WhatsApp ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लागू करने की तारीख को मई तक आगे बढ़ा दिया है। पहले...

टेक्नोलॉजी

WhatsApp पर देश में तत्काल रोक लगाने की मांग की गई है। इस सम्बंध में कंपनी की नई प्राइवेसी पॉलिसी को दिल्ली हाईकोर्ट में...

टेक्नोलॉजी

अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी (Privacy) को लेकर विवादों में आई व्हाट्सएप्प (WhatsApp) अब एक नए विवाद में फंस गई है। दरअसल, गूगल पर WhatsApp...

खबरीलाल

Signal Messaging App : जब से व्हाट्स एप (whatsapp)की नई पॉलिसी आई है। उसके बाद से लोग अपनी प्राइवेसी को लेकर डरे हुए हैं।...

टेक्नोलॉजी

Whatsapp आज दुनिया में हर व्यक्ति चला रहा है। चाहे प्यार भरी बातें करनी हो या कोई बिजनेस मीटिंग करनी हो, बड़ी या छोटी...

देश

कोरोना के दौरान देश में कई बार लॉकडाउन और कर्फ्यू लगाया गया। वहीं, इसी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने एक सख्त टिप्पणी की है।...

राजनीति

Quis autem vel eum iure reprehenderit qui in ea voluptate velit esse quam nihil molestiae consequatur, vel illum qui.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
DMCA.com Protection Status