Connect with us

Hi, what are you looking for?

khabreelal

धर्म-समाज

Bhai Dooj 2020 – आखिर क्या है भाईदूज मनाने के पीछे का कारण; देखें भाईदूज मनाने की पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

भाई दूज (Bhai dooj) या भाई टीका एक हिंदू भाई-बहन अनुष्ठान है और यह सबसे खुशी से मनाया जाने वाला भारतीय त्योहारों में से एक है। यह हिंदू त्योहार भारत के हर हिस्से में सम्मानित होता है और महाराष्ट्र में भाऊ-बीज और पश्चिम बंगाल में भाई फोंटा के रूप में भी जाना जाता है।

भाई दूज कब मनाया जाता है?

भाई दूज समारोह 5 दिवसीय दिवाली त्योहार का हिस्सा हैं और दिवाली के दो दिन बाद आता है। यह हिंदू महीने कार्तिक में शुक्ल पक्ष के दूसरे दिन आता है।

भाई दूज क्यों मनाई जाती है?

भाई दूज एक त्योहार है जो भाइयों और बहनों के बीच बंधन का सम्मान करता है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

यह प्यार का एक शानदार उत्सव है और एक भाई और बहन का एक दूसरे के लिए सम्मान का प्रतीक है । इस दिन, बहनें अपने भाइयों के स्वस्थ, खुश और सुरक्षित जीवन के लिए प्रार्थना करती हैं, जो बदले में भाई अपनी बहनों पर अपने प्यार और देखभाल के प्रतीक के रूप में उपहार देते हैं। भाइयों और बहनों के इस त्योहार पर पूरा परिवार एक साथ आता है और इस उत्सव के दिन मिठाई और अन्य स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद लेता है।

भाई दूज की उत्पत्ति से जुडी हुई कई किवदंतियां और कहानियां हैं। आमतौर पर यह माना जाता है कि इस दिन, मृत्यु के देवता भगवान यम अपनी बहन यामी या यमुना के पास आए। यामी ने उनका ‘आरती’ और माला के साथ स्वागत किया, माथे पर ‘तिलक’ लगाया और उन्हें मिठाई और विशेष व्यंजन पेश किए। बदले में, यमराज ने उन्हें एक अनोखा उपहार दिया और घोषणा की कि इस दिन भाइयों को उनकी बहन द्वारा आरती और तिलक मिलेगा और लंबे जीवन का वरदान मिलेगा। यही कारण है कि इस दिन को ‘यम द्वितीय’ या ‘यामादविथिया’ भी कहा जाता है। एक और किंवदंती बताती है कि राक्षस राजा नारकसुर के वध के पश्चात भगवान कृष्ण अपनी बहन सुभद्रा के पास गए, जिन्होंने मिठाई, माला, आरती और तिलक के साथ स्नेही रूप से भगवान कृष्ण का स्वागत किया।

भाई दूज का उत्सव कौन मनाते हैं?

भाई दूज एक हिंदू त्योहार है और यह 5 दिवसीय दिवाली त्योहार का एक अभिन्न हिस्सा है। यह पूरे भारत में हिंदुओं द्वारा मुख्य रूप से मनाया जाता है। उत्तर-भारत में, इस उत्सव को बहुत सम्मान और उत्साह के साथ मनाया जाता है। महाराष्ट्र में, इस त्योहार को भाऊ-बीज और पश्चिम बंगाल में इसे भाई फोंटा के रूप में मनाया जाता है|

भाई दूज कैसे मनाई जाती है?

Advertisement. Scroll to continue reading.

भाई दूज के अवसर पर, बहनें अपने भाइयों को एक सुन्दर दावत के लिए अपने घर पर आमंत्रित करती हैं, जिसमें अक्सर मिठाई और उनके सभी सबसे पसंदीदा व्यंजन शामिल होते हैं। बहनें अपने भाइयों का ‘आरती’ के साथ स्वागत करती हैं और उनके मस्तक पर सिन्दूर एवं चावल का तिलक लगाकर उनको मिठाई खिलाती हैं और उनके स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना करती हैं। जबकि भाई अपनी बहनों के लिए जीवन की रक्षा करने के वादे के साथ खूब सारे उपहार लाते हैं। ऐसी महिलाएं जिनका कोई भाई नहीं है या जिनके भाई बहुत दूर रहते हैं, वे आरती करते हुए चंद्रमा से प्रार्थना करती हैं।

महाराष्ट्र, गोवा और गुजरात के कुछ हिस्सों में, इस त्योहार को भाऊ बीज के नाम से जाना जाता है और इस दिन भाइयों और बहनों के बीच बहुत उत्साह देखा जाता है। बहनें और भाई उपहारों का आदान प्रदान करते हैं, करीबी रिश्तेदारों और दोस्तों को आमंत्रित करते हैं और बासुंदी पूरी (महाराष्ट्र) जैसी स्वादिष्ट मिठाई तैयार की जाती हैं।

पश्चिम बंगाल में भाई फोंटा समारोह भव्य समारोह और एक भव्य दावत के साथ मनाया जाता है। बहनें तब तक उपवास करती हैं जब तक कि वे अपने भाई के मस्तक पर ‘फोंटा’ या चंदन के पेस्ट को न लगा लें और उनके खुशहाल जीवन के लिए प्रार्थना न कर लें।इस हिंदू त्योहार को मनाने के लिए भारत के हर हिस्से में अलग अलग परंपराएं और अनुष्ठान होते हैं। हालांकि, इस त्योहार का अंतर्निहित महत्व और सार हर जगह एक जैसा ही है जहां एक भाई और बहन के बीच सुंदर संबंध मनाया जाता है।

Khabreelal News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Khabreelal न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Khabreelal फेसबुक पेज लाइक करें 

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement

You May Also Like

मेरठ

मेरठ कॉलेज (Meerut college) में इतिहास विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर और रालोद के पूर्व नेता डॉ. ज्ञानेंद्र शर्मा का कोराेना के चलते निधन हो...

विशेष दिवस

पूरे विश्व में प्रत्येक वर्ष एचआईवी (HIV) संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करते के उद्देश्य से सन् 1988 से लगातार विश्व एड्स दिवस...

देश

चीन में हर साल डॉग मीट फेस्टिवल का आयोजन होता है। इस फेस्टिवल में अलग-अलग तरह के कुत्तों के मांस की बिक्री होती है...

देश

राजस्थान के जयपुर में एक हाई वोल्टेज तार के संपर्क में आने से बस में आग लग गई। जानकारी के मुताबिक आग से बस...

उत्तरप्रदेश

उत्तर प्रदेश में लव जिहाद रोकने के लिए लाए गए कानून के तहत पहला मुकदमा दर्ज किया गया है। कानून बनने के चंद घंटों...

बिजनौर

बिजनौर (bijnor) के नूरपुर मे कृषि कानून के विरोध में ब्लाक अध्यक्ष लक्ष्मीकांत शर्मा के नेतृत्व में भारतीय किसान यूनियन (bharatiya kisan union) ने...

काम की खबर

EMI, Personal Loan, Home Loan लेने वालों के लिए काम की खबर है। लोन मोरेटोरियम के मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में एक महत्‍वपूर्ण...

दिल्ली

दिल्ली (delhi) के सिंधु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच जारी भिडंत के बीच बड़ी खबर आ रही है। पंजाब और हरियाणा से...

खबरीलाल

बिजनौर: शुक्रवार को 5 नए कोरोना संक्रमित बिजनौर में शुक्रवार को 2098 टेस्ट किए गए, जिनमें 5 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं।बिजनौर में अब...

उत्तरप्रदेश

UP विधान परिषद की 11 सीटों पर चुनाव होने हैं। चुनाव में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रदेश में शराब व अन्य मादक...

आटोमोबाइल

पिछले कुछ माह में कार, बाइक बनाने वाली कंपनियों ने नुकसान झेला है। जिसके चलते कंपनियां चाहती है कि वह अपने नुकसान की पूर्ति...

फतेहपुर

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर (Fatahpur) जिले के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र में जमीन पर कब्जे को लेकर चार महिलाओं ने मिलकर एक महिला को बेरहमी...

Advertisement
%d bloggers like this: