Connect with us

Hi, what are you looking for?

लॉकडाउन गाइडलाइन

राहत: आज से शहर और उसकी सीमा से बाहर सभी दुकानें खुलेंगी; 50% स्टाफ काम कर सकेगा

रिपोर्ट : अब्दुल कादिर

लॉकडाउन को एक महीना पूरा हो गया है। लोगों की समस्या देखते हुए केंद्र सरकार धीरे-धीरे इसमें छूट दे रही है। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार देर रात आदेश जारी कर शनिवार से सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में म्यूनिसिपल एरिया (नगरपालिका क्षेत्र) से बाहर सभी दुकानें खोलने की मंजूरी दे दी है। यह छूट सिर्फ उन्हीं दुकानों को मिलेंगी, जो नगर निगमों और नगरपालिकाओं की सीमा में नहीं आते। शहरी क्षेत्र में शॉपिंग मॉल्स और कॉम्प्लेक्स अभी नहीं खुलेंगे।

कुछ शर्तें भी होंगीं

आदेश के मुताबिक, सभी दुकानें संबंधित राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों के स्थापना अधिनियम के तहत रजिस्‍टर्ड होनी चाहिए। इन दुकानों में अधिकतम 50 फीसदी स्‍टाफ को ही काम करने की छूट होगी। साथ ही सोशल डिस्‍टेंसिंग का भी पालन करना होगा। दुकान में काम करने वालों को अनिवार्य रूप से मास्क लगाना पड़ेगा।

निगम सीमा में मौजूद दुकानें 3 मई तक रहेंगी बंद

गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि नगर निगम और नगरपालिका की सीमा में आने वाली किसी कॉलोनी, रहवासी क्षेत्र के आस-पास स्थित दुकानों को खोलने की छूट होगी। हालांकि, नगरीय निकाय सीमा के भीतर के शहरी क्षेत्र में मौजूद दुकानें 3 मई तक बंद रहेंगी।

Advertisement. Scroll to continue reading.
हॉटस्पॉट जोन में अभी छूट नहीं

लॉकडाउन का दूसरा फेज 3 मई तक चलेगा। इसलिए कोरोना हॉटस्पॉट और कंटेनमेंट जोन में फिलहाल दुकानों को खोलने की छूट नहीं मिली है। इससे पहले सरकार ने एडवाइजरी जारी कर राशन, दूध, सब्जी और फल जैसी जरूरी सामान की दुकानों को खोलने की मंजूरी दी थी। अब शहरी सीमा से बाहर सभी तरह की दुकानें खोलने की अनुमति दे दी गई है।

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

देश

भारत में लड़कियों को देवी का रूप कहा जाता है, उनकी पूजा की जाती है, लेकिन देश में आज भी कई लोग ऐसे हैं...

Business

पिछले कुछ समय से bitcoin और बाकी सभी क्रिप्टोकोर्रेंसी (cryptocurrency) अपने समय के सबसे अधिक मूल्य पर चल रही हैं. और अगर बात की...

दिल्ली

कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave) में सरकार की नाकामी की वजह से लाखों परिवारों लोगों ने अपने बेहद करीबी लोगों को खो...

Advertisement