Connect with us

Hi, what are you looking for?

खबरीलाल

हाईकोर्ट : दो बालिग खुद की पसंद से कर सकते हैं शादी, कोई धर्म या सरकार नहीं रोक सकती

इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) ने मौलिक अधिकार (Fundamental rights) को लेकर एक मामले में अहम फैसला लिया है। कोर्ट ने दूसरे धर्म में शादी करने को गलत न मानते हुए पिता की ओर से बेटी प्रियंका खरवार उर्फ आलिया के धर्म परिवर्तन कर सलामत अंसारी से शादी करने के विरोध में दर्ज कराई गई एफआईआर को रद्द कर दिया है। बता दें, पिता ने अपहरण और पॉक्सो एक्ट का भी मुकदमा दर्ज कराया था।

बालिगों के मूल अधिकारों पर अतिक्रमण

कोर्ट के मुताबिक संविधान के अनुसार हर व्यक्ति का अधिकार है कि वह अपनी पसंद के व्यक्ति के साथ जिंदगी बिता सके। दो बालिगों के व्यक्तिगत संबंध में हस्तक्षेप करना दो लोगों की पसंद की स्वतंत्रता के मूल अधिकारों का हनन माना जाएगा। बता दें, कुशीनगर के विष्णुपुरा थाने में प्रियंका खरवार के पिता ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसको कोर्ट ने खारिज कर दी है।

छोटे दुकानदार इस तरह बढ़ा सकते हैं अपना कारोबार, ICICI Bank की शानदार पहल

पार्टर चुनने का अधिकार मूल अधिकार है

प्रदेश की योगी सरकार लव जिहाद को लेकर सख्त कानून बनाने की तैयारी कर रही है, इसी बीच इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) ने कुशीनगर (Kushinagar) के रहने सलामत अंसारी और प्रियंका खरवार के केस में कहा है कि पार्टनर चुनने का अधिकार अलग धर्म होने के बावजूद मूल अधिकार का हिस्सा है। उनके जीवन में कोई तीसरा व्यक्ति या परिवार दखल नहीं दे सकता। कोर्ट ने कहा है कि कानून दो बालिग व्यक्तियों को एक साथ रहने की इजाजत देता है, चाहे उनका लिंग भी समान हो या न हो। इसमें राज्य भी दखल नहीं कर सकता है। यह फैसला कुशीनगर थाना के सलामत अंसारी और तीन लोगों की ओर से दाखिल याचिका पर जस्टिस पंकज नकवी और जस्टिस विवेक अग्रवाल ने सुनाया है।

Khabreelal News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें Khabreelal न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए Khabreelal फेसबुक पेज लाइक करें 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

और खबरें पढ़ें

उत्तरप्रदेश

लव जिहाद (Love Jihad) के मामलों के बीच शादियों के रजिस्ट्रेशन को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad Highcourt) ने बड़ा फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट ने...

उत्तरप्रदेश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कोरोना संक्रमण के मामले में 100 फीसदी मास्क लागू करने के लिए सड़क, मुख्य स्थानों पर पुलिस की तैनाती के साथ...

Advertisement
DMCA.com Protection Status