भीम आर्मी और AIMIM से बचकर रहें कार्यकर्ता, चुनाव से पहले मीडिया पर लगे रोक : मायावती

आज लखनऊ में कांशीराम की पुण्यतिथि के अवसर पर बसपा ने विशाल रैली का आयोजन किया है। जिसमें ज्यादातर जिलों से बसपा कार्यकर्ता शामिल हुए हैं। इस दौरान मायावती ने दूसरी पार्टियों से बचकर रहने की सलाह दी
 | 
mayawati railly
आज बसपा के संस्थापक कांशीराम की पुण्यतिथि (Kanshi Ram's death anniversary) है। इस मौके पर पार्टी द्वारा लखनऊ में विशाल रैली आयोजित की गई है। बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने रैली को संबोधित किया और विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि चाहे वह सत्तारूढ़ पार्टी हो याह फिर कांग्रेस या सपा। सभी जनता से वादे कर रहीं है जो हवा-हवाई है। उन्होंने कहा कि जनता को सोचना चाहिए कि उन्हें कैसी सरकार मिले।

 

मायावती ने कहा कि इस बार पार्टी का पूरा फोकस विकास पर रहेगा। जो केंद्र और राज्य में जन योजनाएं चल रहीं हैं, वह यूंहि चलती रहेंगी ना उन्हें बदला जाएगा और ना ही रोका जाएगा। गरीब लोगों को भोजन, शिक्षा और सुरक्षा मुहैया कराने पर पार्टी का पूरी तरह फोकस रहेगा। वहीं, नौजवानों के लिए रोजगार सबसे बड़ा लक्ष्य रहेगा।

 

मीडिया और सर्वे एजेंसियों पर रोक लगे

लखनऊ में कांशीराम स्मारक पर विशाल रैली को सबांधित करते हुए मायावाती ने कहा कि चुनाव से छह माह पहले मीडिया और सर्वे एजेंसियों पर पाबंदी लगी चाहिए। जिससे चुनाव पूर्ण स्पष्टता के साथ संपन्न हो सके। उन्होंने कहा कि वह इस बाबत चुनाव आयोग को बहुत जल्छ पत्र भी लिखने वाली हैं। जिसमें वह यूपी विधानसभा चुनाव से पहले मीडिया और सर्वे कंपनियों द्वारा कवरेज से पूरी तरह रोका जाए।

 

बंगाल चुनाव का जिक्र करते हुए मायावती ने कहा कि आप बंगाल में हुए चुनाव के परिणाम टीवी पर दिखाए जाने लगे। टीवी पर दिखाया गया कि ममता बनर्जी काफी पीछे चल रहीं है। कुछ ही देर में वह बहुत आगे निकल गईं। उनकी जीत से उन लोगों के सपने टूट गए जो सत्ता पर काबिज होना चाहते थे। मायावती ने रैली में उपस्थित लोगों से अपील करते हुए कहा कि वह किसी के भी बहकावे में ना आएं। बसपा पार्टी को ही वोट दें।

 

ओवैसी और चंद्रशेखर से सतर्क रहने की जरूरत

मायावती ने रैली में लोगों से कहा कि प्रदेश में कुछ छोटी-छोटी पार्टियां गठबंधन कर रहीं हैं। जिनका कोई अपना लक्ष्य नहीं हैं। बल्कि पर्दे के पीछे से सत्तारूढ़ पार्टी को सीधा फायदा फहुंचाना है। इस लिए चंद्रशेखकर की पर्टी भीम आर्मी और ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम से सावधान रहनी की जरूरत है। किसी प्रकार इनके चक्कर में मत पड़ना।
 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।