यूपी में बदलाव के विज्ञापन पर बवाल: कलकत्ता का फ्लाईओवर दिखाकर UP में विकास का दावा, घिरी योगी सरकार

 Transforming UP from West Bengal : कलकत्ता के फ्लाईओवर का फोटो लगाकर उत्तरप्रदेश के विकास कार्यों का बखान करने वाला योगी सरकार का विज्ञापन विवादों में आ गया है।

 | 
yogi
 UP govt ad boasts of development with picture of Kolkata bridge

whatsapp gif

Transforming UP from West Bengal : कलकत्ता के फ्लाईओवर का फोटो लगाकर उत्तरप्रदेश के विकास कार्यों का बखान करने वाला योगी सरकार का विज्ञापन विवादों में आ गया है। विरोधी दलों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा सरकार को ट्रोल करते हुए सवाल उठाया है कि क्या अब योगी सरकार इतनी लाचार हो गई है कि कुर्सी बचाने के लिए उन्हें दूसरे राज्यों के विकास कार्यों को अपना बताकर जनता को गुमराह कर रहे हैं।

 

devanant hospital

दरअसल योगी सरकार ने इंडियन एक्सप्रेस समाचार पत्र में ट्रांसफॉर्मिंग उत्तरप्रदेश नाम से एक विज्ञापन प्रकाशित किया था। इस विज्ञापन में उत्तरप्रदेश में विकास और बदलाव का बखान किया गया है। इसके साथ ही विज्ञापन में योगी आदित्यनाथ की बड़ी सी फोटो है। उनके साथ अलग-अलग इंडस्ट्री, ऊंची इमारतें, जेडब्ल्यू मेरियट होटल और फ्लाईओवर की तस्वीर भी लगाई गई है। बस इसी फ्लाई ओवर पर विवाद छिड़ गया। दरअसल यह फ्लाईओवर यूपी का नहीं है।  Read ALso : PM मोदी अगर जांच करवा दें तो CM योगी जाएंगे जेल : ओमप्रकाश राजभर

 

विज्ञापन में प्रदर्शित किया गया फ्लाईओवर कोलकाता का मां ब्रिज है। अब इसको लेकर सोशल मीडिया पर इसको लेकर तृणमूल कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, कांग्रेस समेत कई विपक्ष के नेताओं ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी तस्वीर शेयर करते हुए कहा, 'ऐसा विकास न सुना होगा न देखा होगा। कलकत्ता का फ्लाईओवर खींचकर लखनऊ ले आए हमारे CM आदित्यनाथ जी। भले ही विज्ञापन में ले आए लेकिन लाए तो।'

 

ortho

तृणमूल का तंज- पार्टी बचाने के लिए लाचार हैं मोदी
टीएमसी के नेता मुकुल रॉय ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'श्री नरेंद्र मोदी अपनी पार्टी को बचाने के लिए इतने लाचार हैं कि सीएम बदलने के अलावा उन्हें विकास और बुनियादी ढांचे की तस्वीरों का भी सहारा लेना पड़ा है।'

 

punjab

समाजवादी पार्टी ने भी कसा तंज
समाजवादी पार्टी ने भी लिखा, 'मुख्यमंत्री के झूठ की फिर खुल गई पोल! विज्ञापनों में जनता का पैसा पानी की तरह बहाने वालों के पास दिखाने के लिए अपना किया कोई काम नहीं, तो कोलकाता में हुए निर्माण की तस्वीर छाप कर जनता को कर रहे गुमराह, शर्मनाक! यह है झूठ बोलने में नंबर 1 भाजपा सरकार। जिसके "दिन है बचे चार"!'

 

इंडियन एक्सप्रेस ने मानी गलती, हटाई तस्वीर
उधर विज्ञापन छापने वाले इंडियन एक्सप्रेस ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके अपनी गलती स्वीकार की। इंडियान एक्सप्रेस ने बताया कि विज्ञापन विभाग की गलती के चलते ऐसा हुआ है और अब इस विज्ञापन को डिजिटल प्लेटफार्म से हटा दिया गया है।


 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।