UP COVID GUIDELINE: बढ़ गईं पाबंदियां, अब वर्क फ्रॉम होम हुआ लागू, सीएम ने दिया ये आदेश

UP COVID GUIDELINE: बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी ने सभी सरकारी और निजी दफ्तरों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम (WORK FROM HOME IN UP) के आदेश दिए हैं।

 | 
Yogi Adityanath

UP COVID GUIDELINE: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने भी मान लिया है कि प्रदेश में तीसरी लहर (Covid 3rd Wave in UP) आ गई है और अब सावधान रहने की जरूरत है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी ने सभी सरकारी और निजी दफ्तरों में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम (WORK FROM HOME IN UP) के आदेश दिए हैं।

इसके साथ ही प्राइवेट दफ्तरों में कोई कर्मचारी संक्रमित होता है तो उसे 7 दिन के लिए छुट्‌टी दी जाएगी। इस दौरान कंपनी किसी तरह का वेतन नहीं काटेगी, यह एक हफ्ते का अवकाश सवैतनिक होगा। सभी कार्यालयों को कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करने के भी आदेश दिए गए हैं वहीं बिना स्क्रीनिंग के किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जाएगा। बता दें कि उत्तरप्रदेश में सोमवार को प्रदेश में रिकॉर्ड 8334 नए केस मिले हैं। प्रदेश में अब एक्टिव केस 33946 हो गए हैं।  Read Also : स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के ग्राहकों के लिए अच्छी खबर: अब 5 लाख तक का ऑनलाइन IMPS ट्राजेक्शन होगा निशुल्क

यूपी में कोरोना की नई गाइडलाइन (UP COVID GUIDELINE)

  • आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों में 50℅ कर्मचारियों के साथ ही काम होगा। बाकी 50 फीसदी वर्क फ्रॉम होम करेंगे।
  • प्राइवेट दफ्तरों में यदि कर्मचारी यदि कोविड पॉजिटिव होता है तो उसे वेतन के साथ न्यूनतम 07 दिनों का अवकाश मिलेगा।
  • सभी सरकारी-निजी कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना अनिवार्य होगी। 
  • चुनाव से 10 दिन पहले तक जिले के हर नागरिक को वैक्सीन लगाना अनिवार्य है। 
  • बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट पर टेस्टिंग के दौरान कोविड पॉजिटिव पाए जा रहे लक्षणयुक्त लोगों को संस्थागत आइसोलेशन में रहना होगा। इनके लिए क्वारन्टीन सेंटर बनेंगे।
  • सरकारी और प्राइवेट सभी अस्पतालों में ओपीडी के लिए आनलाइन अपाइंटमेंट लेना होगा। जरूरी होने पर ही लोग अस्पताल पहुंचे। मरीजों के लिए डॉक्टर टेलीफोन पर उपलब्ध रहेंगे। 
  • 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों के जल्द से जल्द टीकाकरण के लिए स्कूलों में विशेष शिविर लगाए जाएं।
  • सभी औद्योगिक इकाइयां जारी रखी जाएं। चीनी मिलें चलती रहें। रात्रि में संचालित होने वाली औद्योगिक इकाइयों के कार्मिकों को नाइट कर्फ्यू में आने जाने की छूट रहेगी।
  • जनपदों में इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) को 24×7 एक्टिव रखा जाए। आईसीसीसी में विशेषज्ञ चिकित्सकों का पैनल मौजूद रहे। लोगों को टेलीकन्सल्टेशन की सुविधा दी जाए।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।