मेरठ : रिटायर्ड इंस्पेक्टर से 1 करोड़ की रंगदारी मांगी, सीएम को ट्वीट कर कहा- कार्रवाई नहीं हुई तो कर लूंगा आत्मदाह

उत्तर प्रदेश के मेरठ में रहने वाले दिल्ली पुलिस के रिटायर्ड इंस्पेक्टर से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है। पीड़ित ने सीएम पोर्टल और डीजीपी से भी मामले की शिकायत की है

 | 
meerut
उत्तर प्रदेश के मेरठ में रहने वाले दिल्ली पुलिस के रिटायर्ड इंस्पेक्टर से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है। पीड़ित ने सीएम पोर्टल और डीजीपी से भी मामले की शिकायत की है। वहीं पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को हिरासत में लेते हुए पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस जांच में अभी तक यह मामला लेनदेन का सामने आ रहा है। बड़ी बात यह है कि इस मामले में ढाई माह पहले एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है, लेकिन मेडिकल पुलिस ने रिटायड इंस्पेक्टर की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की थी। अब सीएम और डीजीपी से शिकायत के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की है। 

 

2006 में छोड़ दी थी नौकरी

जानकारी के मुताबिक मेडिकल थाना क्षेत्र के जागृति विहार के साउथ एक्सटेंशन के रहने वाले सुदेश सिंह भाटी दिल्ली पुलिस में इंस्पेक्टर थे। वर्ष 2006 में सुदेश सिंह ने अपनी नौकरी से त्याग पत्र दे दिया था। भाटी की पत्नी की मौत हो चुकी है, जबकि उनका बेटा विदेश में नौकरी करता है और परिवार के साथ वहीं रहता है। भाटी की बेटी की भी शादी हो चुकी है, फिलहाल वे अकेले ही रहते हैं। Read Also: नौकरीशुदा पत्नी को कमाऊ गाय के रूप में नहीं देखा जा सकता : दिल्ली हाईकोर्ट

 

ट्वीट कर सीएम, डीजीपी और एडीजी से की शिकायत

सुदेश ने सीएम, डीजीपी और एडीजी को ट्वीट कर जागृति विहार के रहने वाले ठेकेदार विकास त्यागी और शास्त्रीनगर के देवेंद्र गौड़ के खिलाफ रंगदारी मांगने की शिकायत की है। सुदेश ने शिकायत में बताया है कि ये दोनों शख्स अपराधिक किस्म के व्यक्ति हैं और उससे एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांग रहे हैं। सुदेश का कहना है कि आरोपी कभी फोन पर तो कभी घर आकर उसे धमकी दे रहे हैं और पैसे देने का दबाव बना रहे हैं। इसके चलते वह घर से निकलने से भी डर रहा है।

 

46 लाख रुपये हड़प चुके आरोपी

सुदेश ने बताया कि आरोपी उससे 46 लाख रुपये हड़प चुके हैं और अब उससे 1 करोड़ रुपये मांग रहे हैं। सुदेश का आरोप है कि आरोपी उसकी संपत्ति हड़पना चाहते हैं। सुदेश ने बताया कि वह उन्हें एक कार भी दे चुके हैं, लेकिन आरोपी उसे लगातार धमकी दे रहे हैं ओर एक करोड़ रुपये देने का दबाव बना रहे हैं। 

 

14 अगस्त को मेडिकल थाने में कराया था धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

सुदेश ने विकास और देवेंद्र के खिलाफ 14 अगस्त को मेडिकल थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा भी दर्ज कराया था, लेकिन इस पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। अब जब सीएम और डीजीपी से शिकायत की गई तो पुलिस हरकत में आई और मामले से जुड़े एक आरोपी विकास को हिरसात में ले लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी पहले से ही सुदेश को जानते थे। दोनों जमीन में आप्टिकल फाइबर डालने के ठेके लेने का काम करते हैं और इस काम में इन्होंने सुदेश को 50 प्रतिशत का हिस्सेदार बनाया था।

 

इस काम के लिए दोनों ने पहले सुदेश से साढ़े 26 लाख लिए। इसके बाद नागपुर (महाराष्ट्र) में 40 किमी का टेंडर बताकर 20 लाख रुपये और हड़प लिए थे। सुदेश के मुताबिक यह रकम उसन अपना मकान गिरवी रखकर दी थी, लेकिन आरोपियों ने महज साढ़े चार लाख रुपये ही उन्हें लौटाए हैं। पुलिस ने जब आरोपी विकास के खाते की जांच की तो 26.5 लाख रुपये का ट्रांजिक्शन मिला है।

 

आत्मदाह की चेतावनी

रिटायर्ड इंस्पेक्टर सुदेश भाटी का आरोप है कि पुलिस द्वारा कार्रवाई न होने से आरोपी बेखौफ हैं और अब उनसे एक करोड़ रुपये मांग रहे हैं और न देने पर घर आकर हत्या की धमकी दे रहे हैं। मुख्यमंत्री को किए ट्वविट में रिटायर्ड इंस्पेक्टर ने कहा है कि यदि इंसाफ न मिला तो लखनऊ में सीएम आवास के सामने ही आत्मदाह कर लूंगा। उधर जागरण की खबर के मुताबिक मेडिकल पुलिस का कहना है कि  सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर ने मामले को तूल देने के लिए ट्वीट किया है। धोखाधड़ी के मुकदमे में उनसे सुबूत मांगे जा रहे हैं। धोखाधड़ी के मुकदमे में आरोपी बने लोग रंगदारी मांगने की हिम्मत नहीं कर सकते।

 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है कि सेवानिवृत्त इंस्पेक्टर से रंगदारी मांगने का मामला अभी तक साफ नहीं हुआ है। आप्टिकल फाइबर जमीन में डालने की ठेकेदारी को लेकर पार्टनरों का विवाद चल रहा है। धोखाधड़ी के मुकदमे में विवेचना चल रही है। पुलिस सभी तथ्यों के आधार पर कार्रवाई कर रही है।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।