नहीं काम आया पिता का रसूख: सुप्रीम कोर्ट की लताड़ के बाद मंत्री का हत्यारोपी बेटा आशीष गिरफ्तार, जेल भेजने की तैयारी

लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। आशीष से क्राइम ब्रांच ने करीब 6 घंटे तक पूछताछ की जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया है।

 | 
ashish mishra teni
उत्तरप्रदेश के लखीमपुर से बड़ी खबर सामने आ रही है। क्राइम ब्रांच ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री और लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार कर लिया है। आशीष से क्राइम ब्रांच ने करीब 6 घंटे तक पूछताछ की जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया है। सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद आशीष की गिरफ्तारी हो पाई है, इससे पहले तक उत्तरप्रदेश सरकार और पुलिस आशीष को बचाने का प्रयास कर रही है। बताया जा रहा है कि आशीष को अब कोर्ट में पेश किया जाएगा। इससे पहले उसे मेडिकल के लिए ले जाया जा जाएगा। पुलिस ने उसका मोबाइल भी जब्त कर लिया है। 

 

दरअसल आशीष मिश्रा लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का मुख्य आरोपी है। उसके खिलाफ हत्या समेत कई अन्य गंभीर आपराधिक धाराओं में मामला दर्ज है, इसके बावजूद पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही थी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तक कह चुके थे कि सिर्फ आरोपों के आधार पर हम उसे गिरफ्तार नहीं कर सकते। इसके बाद इस मामले में खुद सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया और यूपी सरकार से मामले के आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर फटकार लगाई थी। Read Also : ABP C-Voter Survey: उत्तर प्रदेश समेत 5 राज्यों में किसकी बनेगी सरकार, आया सर्वे का परिणाम; पढ़ें

 

इसके बाद क्राइम ब्रांच ने आशीष के घर पर नोटिस चस्पा कर उसे पूछताछ के लिए अपने घर बुलाया था, लेकिन वह नहीं पहुंचा। इस बात से भी सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए योगी सरकार से पूछा था कि क्या आप हत्या के अन्य आरोपियों को भी नोटिस भेजकर पेश होने के लिए कहते हो? कोर्ट ने योगी सरकार से पूछा था कि आप साबित क्या करना चाहते हो, इस मामले में आपके रवैये से हम संतुष्ट नहीं है आरोपियों की गिफ्तारी कर बताइए कि इस मामले का अरोपी कोन है।

 

इसके बाद एक बार फिर क्राइम ब्रांच ने आशीष के घर नोटिस चस्पा किया और शनिवार सुबह 11 बजे उसे अपने दफ्तर में तलब किया था। अशीष के नेपाल भागने की खबर सामने आ रही थी, लेकिन हर ओर से पड़ते दबाव के बाद वह शनिवार सुबह क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंचा था। सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक पूछताछ की गई, अब अशीष को कोर्ट में पेश किया जाने वाला है। बताया जा रहा है कि आशीष अपने साथ 12 से ज्यादा पेन ड्राइव लेकर क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंचा था। बताया यह भी जा रहा है कि इन पेन ड्राइव में कुछ वीडियो हैं जिनसे अशीष ने यह साबित करने की कोशिश की कि घटना के वक्त वह घटना स्थल पर मौजूद ही नहीं था।

 

अजय मिश्रा पर बड़े नेता का दबाव पड़ा तो पेश हुआ अशीष
सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा नहीं चाहते थे कि, वे बार-बार अपने हत्यारोपी बेटे का बचाव कर रहे थे। उधर भाजपा और सरकार की छवि खराब होने के साथ ही सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के चलते किसी बड़े नेता का संदेश अजय सिंह के पास गया और इसी बड़े नेता ने अजय पर आशीष को पुलिस के सामने पेश करने का दबाव बनाया। इस दबाव के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि आशीष शनिवार को पुलिस के सामने पेश होगा और जांच में सहयोग करेगा। 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।