Caution: गाड़ी का पेपर नहीं हैं कम्पलीट तो एक्सप्रेस-वे पर चढ़ते ही कटेगा चालान, इस Technique का होगा प्रयोग

यदि आप भी एक्सप्रेस-वे पर सफर कर रहे हैं तो आपको वाहन के सभी जरूरी दस्तावेज अपडेट रखने होंगे। वाहन के बीमा से लेकर प्रदूषण प्रमाण पत्र तक मान्य होना चाहिए। अगर यह कमर्शियल व्हीकल है तो उसके पास फिटनेस सर्टिफिकेट होना भी जरूरी होगा।
 | 
Meerut-1

अगर आप भी एक्सप्रेस-वे पर सफर कर रहे हैं तो आपको वाहन के सभी जरूरी कागज़ात अपडेट रखने होंगे। वाहन के बीमा से लेकर प्रदूषण प्रमाण पत्र तक मान्य होना चाहिए। अगर यह कमर्शियल व्हीकल है तो उसके पास फिटनेस सर्टिफिकेट होना भी जरूरी होगा।ये भी पढ़े:- Petrol-Diesel & Gold price 4 January: घर से निकलने से पहले जान लें आज के पेट्रोल-डीजल के रेट, सोना-चांदी के दामों पर भी डालें नजर

दरअसल, अब एक्सप्रेस-वे पर चलने वाले हर वाहन की स्थिति का पता आसानी से लगाया जा सकता है। जैसे ही वाहन एक्सप्रेस-वे पर चढ़ता है, मिनटों में ट्रैफिक पुलिस को पता चल जाएगा कि वाहन से जो जुड़ा है वह वैध नहीं है। उसके बाद आपका चालान अपने आप कट जाएगा और वह भी बिना आपकी गाड़ी को रुके।

देश के सभी एक्सप्रेसवे और राष्ट्रीय राजमार्ग उन्नत यातायात प्रबंधन प्रणाली (एटीएमएस) से लैस होने जा रहे हैं। इस सिस्टम के जरिए गाड़ी के अंदर बैठे शख्स ने सीट बेल्ट लगाई है या नहीं। वह भी फोटो और वीडियो से पता लगाया जा सकता है।

आपको बता दें कि पिछले कुछ सालों से भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) सभी हाईवे और एक्सप्रेसवे को हाईटेक और सुरक्षित बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। इसके लिए हाईवे पर विदेशी तकनीक से लैस सीसीटीवी कैमरे लगाने से लेकर फास्टैग जैसी सुविधाएं भी शुरू कर दी गई हैं। इसके साथ ही एक्सप्रेस-वे पर कहीं-कहीं ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रीडर लगाए जा रहे हैं। इस व्यवस्था से वाहन मालिकों को टोल भुगतान के लिए रुकना नहीं पड़ेगा। साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वालों का ई-चालान शुरू कर दिया गया है।

अगले तीन साल में टोल से आय बढ़कर 1.40 लाख करोड़ रुपये हो जाएगी
गौरतलब है कि केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में कहा था कि अगले तीन साल में NHAI की टोल टैक्स से होने वाली आय 40,000 करोड़ रुपये सालाना से बढ़कर 1.40 लाख करोड़ रुपये सालाना हो जाएगी। उन्होंने कहा था कि भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में निवेशकों के लिए बहुत बड़ा अवसर है क्योंकि भारतीय अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ रहा है। इसके साथ ही हर साल ट्रैफिक भी बढ़ रहा है। गडकरी ने कहा कि वर्तमान में NHAI की वार्षिक टोल आय 40,000 करोड़ रुपये है। अगले तीन साल में यह बढ़कर 1.40 लाख करोड़ रुपये सालाना हो जाएगा।

dr vinit

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।