मेरठ : डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर मामले में आईएमए (IMA) ने उठाए सवाल, 12 साल की बच्ची के साथ अश्लील हरकत करने का आरोप,

मेरठ में एक डॉक्टर पर 12 साल की  बच्ची के साथ यौन शोषण का आरोप लगा है।  जिसमें परिजनों ने थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है कि इलाज के बहाने डॉक्टर ने बच्ची के प्राइवेट पार्ट को भी छुआ। 
 | 
mrt-1
मेरठ में एक डॉक्टर पर 12 साल की एक बच्ची के साथ यौन शोषण का आरोप लगा है। जिसमें परिजनों थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है कि इलाज के बहाने डॉक्टर ने बच्ची के प्राइवेट पार्ट को भी छुआ। गंगानगर पुलिस ने आरोपी डॉ. गगन अग्रवाल के खिलाफ धारा 376(3) और पोस्को के तहत मामला दर्ज किया है।Read Also:-  UP : लखीमपुर में नाबालिग बच्चियों की गैंगरेप में हत्या, मां बोलीं- रेप के बाद मार डाला; 6 आरोपी गिरफ्तार, एक आरोपी जुनेद को मुठभेड़ में गोली लगी

 

लेकिन इस मामले में IMA मेरठ के अधिकारियों ने पुलिस अधिकारियों से कहा है कि ये झूठे आरोप हैं, डॉक्टर कैमरे के सामने ऐसी हरकत नहीं कर सकते। 

 

बच्ची अपने मामा के साथ इलाज के लिए आई थी 
मेरठ के थाना गंगा नगर इलाके में डॉ. गगन अग्रवाल का अपने नाम से क्लिनिक है। 12 सितंबर को शिक्षक की 12 वर्षीय बेटी अपने मामा के साथ इलाज के लिए डॉक्टर के क्लीनिक पहुंची। आरोप है कि इलाज के बहाने डॉक्टर गगन बच्ची को क्लीनिक में कमरे के अंदर ले गया। 

 

बच्ची के प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ की गई। घर पहुंचने पर बच्ची ने अपने परिवार वालों को बताया। लड़की की मां ने गंगानगर थाने में आरोपी डॉक्टर गगन अग्रवाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। जिस पर डॉक्टर गगन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

 

पुलिस ने देखी सीसी टीवी की फुटेज
एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। तहरीर के आधार पर डॉक्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि डॉक्टर ने बच्ची के प्राइवेट पार्ट को छुआ है। लेकिन बाद में लड़की अपने घर गई और अपनी दादी को यह बात बताई।

 

एडीजी से मिलेंगे आईएमए अध्यक्ष व अन्य डॉक्टर
डॉ. गगन अग्रवाल पर छेड़छाड़ के कथित मामले में आईएमए के अधिकारी गुरुवार को एडीजी मेरठ से मुलाकात करेंगे। इससे पहले बुधवार को एसएसपी मेरठ ने रोहित सजवान से मुलाकात की। जहां एसएसपी ने जांच का आश्वासन दिया।

 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन मेरठ की अध्यक्ष डॉ. रेणु भगत, सचिव डॉ. अनुपम सिरोही, पूर्व सचिव डॉ. मनीषा त्यागी, डॉ. शिशिर कुमार जैन ने एसएसपी को बताया कि यह मामला बिना जांच के दर्ज कर लिया गया है। बच्ची की उम्र 12 साल है। डॉक्टर ने बच्ची का उसके केबिन में ही चेकअप किया। वहां भी कैमरे हैं।

 

बच्ची को दूसरे कमरे में ले जाने का आरोप झूठा है। बच्ची के कपड़े तक नहीं उतारे गए। महज 40 सेकेंड में बच्ची का चेकअप हुआ और वह बाहर आ गई। बच्ची होने के कारण महिला नर्स को नहीं बुलाया गया था।

 

इस तरह तो डॉक्टर इलाज करना बंद कर देंगे
पूर्व सचिव डॉ मनीषा त्यागी ने कहा कि डॉक्टर ने खुद उनके केबिन का वीडियो पुलिस को उपलब्ध कराया। गगन एक जाने-माने डॉक्टर हैं, जो बच्चों के चिकित्सक हैं। डॉक्टर की छवि खराब की जा रही है। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज सुरक्षित है, इसमें छेड़छाड़ का कोई मामला नहीं है। इस तरह डॉक्टर मरीजों और बच्चों का इलाज करना बंद कर देंगे। आईएमए सरकार से भी अपनी बात रखेगा।
sonu

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।