Connect with us

Hi, what are you looking for?

वाराणसी

वाराणसी: पद्मविभूषण छन्नूलाल की बेटी का आरोप, अस्पताल में डॉक्टरों की लापरवाही से गई मेरी बहन की जान, हंगामा

कोरोना से पूरा देश बेहाल है। हालात ऐसे हैं कि सभी को अस्पताल में जाना ही पड़ रहा है। इस बीच लोग डॉक्टर को भगवान का दर्जा दे रहे हैं, वहीं, कुछ जगहों पर डॉक्टरों की लापरवाही से मरीज की मौत के आरोप लग रहे हैं। इतना ही नहीं, मेरठ सहित कई जिलों में अस्पताल में डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ की लापरवाही का आरोप लगाते हुए परिजनों ने तोड़फोड़ भी की है। अब एक मामला वाराणसी से सामने आया है।

पीएम मोदी के प्रस्तावक और पद्मविभूषण पंडित छन्नूलाल मिश्र की छोटी बेटी नम्रता मिश्रा ने मेडविन अस्पताल के डॉक्टरों पर लगाया है कि इलाज के नाम पर लाखों रुपये लेने के बाद भी हॉस्पिटल में डॉक्टर मरीजों का ठीक से इलाज नहीं कर रहे हैं। लापरवाही के चलते ही उनकी बड़ी बहन की मौत हो गई। वहीं, अस्पताल में काफी मिन्नते करने के बाद भी आईसीयू में भर्ती उनकी बहन को ठीक से दिखाया तक नहीं गया। नम्रता मिश्रा ने आरोप लगाया है कि जब अस्पताल प्रशासन से आईसीयू की सीसीटीवी फुटेज मांगी गई तो डॉक्टर से लेकर अस्पताल का पूरा स्टॉफ फरार हो गया। इस पूरे मामले में जिलाधिकारी वाराणसी ने जांच के आदेश दिए हैं।

संगीता मिश्रा कोरोना से पीड़ित थीं

जानकारी के अनुसार पद्मविभूषण पंडित छन्नूलाल लाल मिश्र की पत्नी व बड़ी बेटी संगीता कोरोना से पीड़ित थी। पत्नी मनोरम को रवींद्रपुरी के निजी अस्पताल और बड़ी बेटी संगीता को मैदागिन स्थित मेडविन अस्पताल में भर्ती थीं। भर्ती के समय डॉक्टरों ने उन्हें अस्पताल में 2 से 4 बजे के बीच सीसीटीवी कैमरे के जरिए टीवी स्क्रीन पर देखने की बात कहीं थी। लेकिन जब उनके परिवार के लोगो ने अस्पताल के डॉक्टरों से बीमार बेटी को देखने की गुहार लगाई तो अस्पताल के डॉक्टर ने टालमटोल शुरू दी। कभी टीवी स्क्रीन खराब होने का बहाना किया तो कभी उन्हें वार्ड में जाने की परमिशन नहीं दी।

एक बार दिखा दो चेहरा’
नम्रता मिश्रा ने बताया कि 26 मई मां के निधन के बाद मेरे पिता पद्मविभूषण छन्नूलाल मिश्र अपनी बेटी को देखने के लिए तीन दिन डॉक्टरों को फोन कर मिन्नतें की लेकिन डॉक्टर ने उन्हें उनकी बीमार बेटी की तस्वीर भी खींच के नहीं दिखाई और दीदी की 1 मई को अस्पताल में मौत हो गई। फुटेज के नाम पर सब टालमटोल करते रहे।

Advertisement. Scroll to continue reading.

नम्रता ने बहन की हत्या का आरोप लगाते हुए किया हंगामा
संगीता मिश्रा की मौत के बाद छोटी बहन नम्रता अस्पताल पहुंची। डॉक्टरों से सीसीटीवी फुटेज दिखाने की मांग की तो अस्पताल के डॉक्टर और कर्मचारी फरार हो गए। जिसको लेकर अस्पताल में घंटों हंगामा चला। पुलिस भी मौके पर आ गई। नम्रता ने अस्पताल के डॉक्टरों पर बड़ी बहन संगीता की हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने दिए जांच के आदेश
अस्पताल की लापरवाही की जानकारी के बाद वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने इस पूरे मामले में जांच के टीम का गठन किया है। डॉक्टरों की तीन सदस्यीय टीम इस पूरे मामले की जांच कर सच का पता लगाएगी। डभ्एम का कहना है कि जांच में अस्पताल व डॉक्टर दोषी पाए जाते हैं तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

Advertisement