Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तरप्रदेश

यूपी: पत्नी है कोरोना संक्रमित, 4 साल की बेटी की देखभाल को नहीं मिली छुट्टी तो डिप्टी SP ने दे दिया इस्तीफा

कोरोना ने देश में लोगों को बर्बाद कर दिया है। कई अपनों को खो रहा है तो काई नौकरी। मामला झांसी से जुड़ा है। जानकारी के अनुसार झांसी में सीओ सदर के पद पर डिप्टी एसपी मनीष सोनकर तैनात हैं। बताया जा रहा है कि उनकी पत्नी कोरोना संक्रमित है। चार साल की बेटी की अकेली है उसकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। जिसके लिए सीओ ने छुट्‌टी मांगी। परंतु उच्चाधिकारियों ने छुट्‌टी मंजूर नहीं की। जिसके बाद सीओ ने इस्तीफा एसएसपी को सौंप दिया। एसएसपी ने भी इस्तीफा उच्चाधिकारियों को सौंप दिया है।

ये है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के झांसी में सीओ सदर के पद पर तैनात मनीष सोनकर को अपनी कोरोना संक्रमित पत्नी व बेटी की देखरेख के लिए एसएसपी झांसी ने छुट्टी नहीं। जिसके बाद डिप्टी एसपी(सीओ सदर) ने नौकरी से इस्तीफा भेज दिया। सोशल मीडिया पर वायरल मनीष सोनकर के पत्र में आरोप लगाया गया कि पत्नी के कोरोना संक्रमित होने के बाद उनकी 4 साल की बेटी की देखरेख के लिए घर में कोई दूसरा नहीं था।

1 दिन पहले आए सरकारी फॉलोवर के सहारे बेटी और पत्नी को छोड़ना उचित नहीं समझा जिसके लिए उन्होंने एसएसपी से 1 मई को ही 6 दिन की छुट्टी मांगी थी, इसके बावजूद 2,3 मई की ड्यूटी बड़ागांव मतगणना केंद्र पर लगा दी गई। 2 मई को जब छुट्टी मांगी तो एसएसपी ने फॉलोअर के सहारे पत्नी और 4 साल की बेटी को छोड़कर ड्यूटी पर आने को कह दिया। जिसके बाद डिप्टी एसपी ने नौकरी से ही इस्तीफा दे दिया।

एसएसपी ने लगाए कुछ और ही आरोप

एसएसपी झांसी रोहन पी कानय ने इस मामले में सीओ सदर पर कुछ और ही आरोप लगाए हैं। एसएसपी झांसी के मुताबिक मनीष सोनकर अधिकारिक तौर पर घर में एक फॉलोवर रख सकते हैं, जबकि वह 2 फॉलोवर रखे थेद। दूसरे फॉलोवर का भुगतान सरकारी खजाने से करवा रहे थे, जिस पर उनके द्वारा आपत्ति की गई और सरकारी खजाने से भुगतान को रोक दिया गया था।

Advertisement. Scroll to continue reading.

जिसके बाद मनीष सोनकर ने दूसरा फॉलोवर भेजने की पेशकश की। 1 फॉलोवर को चोरी करने का आरोप लगाकर हटा दिया और दूसरे भेजे गए फॉलोवर को गंदगी फैलाने की शिकायत कर हटा दिया गया। इस तरह के उनके लिए हो रहे भुगतान पर रोक के बाद से ही मनीष सोनकर ड्यूटी में लापरवाही कर रहे थे।

मतगणना में मौके पर नहीं मिले सीओ सदर : एसएसपी

एसएपी के मुताबिक जब वह डीएम के साथ 2 मई को पंचायत चुनाव की मतगणना वाले दिन मौके पर पहुंचे तो मनीष सोनकर वहां मौजूद नहीं थे। फोर्स भी तितर-बितर थी, जिसको देखने के बाद जब एसएसपी ने मनीष सोनकर से ड्यूटी पर आने के लिए कहा तो उन्होंने अपने हाथ से लिखे इस्तीफे की फोटो एसएसपी को वॉट्सऐप कर दी। जिसको उच्चाधिकारियों को भेज दिया गया है। वहीं, एसएसपी रोहन पी कानय का कहना है कि कार्यालय आने पर मनीष सोनकर की 6 दिन की छुट्टी को भी स्वीकृत कर दिया गया है।

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

Advertisement