Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तरप्रदेश

मेरठ: न्यूटीमा अस्‍पताल में 5 मरीजों की मौत, परिजनों ने क‍िया हंगामा और तोड़फोड़, लापरवाही का आरोप

उत्‍तर प्रदेश के मेरठ जिले(Meerut District) में गढ़ रोड स्थित न्यूटीमा हॉस्पिटल (Nutima hospital Meerut) में रविवार रात को कोरोना के पांच मरीजों की मौत हो गई। परिजनों ने ऑक्सीजन सप्लाई रुकने व इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इस दौरान परिजनों ने तोड़फोड़ भी की। सूचना पर मेडिक थान पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को समझाने की कोशिश की। जानकारी सीएमओ अखिलेश मोहन ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को समझाया तो उन्होंने आरोप लगाए कि अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने क चलते हमारे मरिजनों की मौत हुई है।

इलाज में लापरवाही और ऑक्सीजन सप्लाई रुकने का आरोप लगाया

न्यूटीमा हॉस्‍प‍िटल में कोविड और नॉन कोविड मरीज भर्ती हैं। बताया जा रहा है। रविवार दोपहर से यह मौत का क्रम शुरू हुआ। शाम होते होते पांच मरीजों की मौत हो गई। खुद के मरीजों की तड़फ-तड़फ कर मौत होते देख परिजन आपा खो बैठे और हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान परिजनों ने अस्पताल में तोड़फोड़ शुरू कर दी। मौके पर मेडिकल थाना पुलिस ने पहुंचकर परिजनों को समझाने की कोशिश की परंतु वह नहीं माने। हंगामा की जानकारी पर सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन (Meerut CMO Dr. Akhilesh Mohan) अस्पताल पहुचें और हंगामा कर रहे लोगों को समझाने का प्रयास किया।

पार्टी नेता ने उठाए सवाल, कबतक BJP की हार से खुश होती रहेगी कांग्रेस?

परिजनों ने आरोप लगाया कि लाखों रुपये अस्पताल में हम जमा कर चुके हैं फिर भी हमारे मरीज के इलाज में लापरवाही की गई। परिजनों का कहना है कि अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने के चलते ये मौतें हुई हैं। परिजनों को समझाते हुए सीएमओ ने इस मामले में जांच कराने की बात कही। ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से हापुड़ निवासी पवन वर्मा (42), आरके पुरम निवासी अशोक गोयल (55) के अलावा मुरादाबाद निवासी एक महिला की मौत हुई है।

Advertisement. Scroll to continue reading.
लोग अपनों को खोने का गम बर्दाश्त नहीं कर पा रहे

न्यूटीमा अस्पताल के एमडी डॉ. संदीप गर्ग (Dr. Sandeep Garg, MD, Nutima Hospital Meerut) के मुताबिक 5 लोगों की मौत का कारण परिजन ऑक्सीजन सप्लाई रुकना बता रहे हैं, यह आरोप उनके गलत हैं। लोग अपनों को खोने का गम बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं और बेकाबू हो जा रहे हैं।

Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

Advertisement