Connect with us

Hi, what are you looking for?

khabreelal

देश

रमजान उल मुबारक का चांद दिखा, पहला रोजा कल, जानिए कैसे हुई रमजान माह की शुरुआत

इस बार लॉकडाउन के कारण उलमा ने मस्जिदों में तरावीह न करने की अपील की है। उललेमा ने घरों में ही रहकर इबादत करने की अपील की है।

देश में कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लगा हुआ है और इसी बीच मुसलमानों का मुकद्दस महीना रमजान शुरू हो रहा है। देश के कई हिस्सों में आज चांद देखा गया। एदार ए शरीया झारखंड के नाजिमे आला मौलाना कुतुबुद्दीन रिजवी ने कहा है कि आज दिनांक 24 अप्रैल, शुक्रवार को रांची समैत राज्य के विभिन्न भागों में  रमजान का चांद आम तौर पर नजर आया। जिसकी तस्दीक काजियाने शरीयत ने कर दी है। लि‍हाजा 25 अप्रैल दिन शनि‍वार से रोजा रखा जाएगा। इसी के साथ नमाजे तराविह शुरु हो गई। हालांकि इस बार लॉकडाउन के कारण उलमा ने मस्जिदों में तरावीह न करने की अपील की है। उललेमा ने घरों में ही रहकर इबादत करने की अपील की है। 

इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार, साल का नौवां महीना रमजान का होता है। इसे इबादत का महीना कहा जाता है, जिसमें मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा अनिवार्य रूप से रोजा रखा जाता है। मान्यता के अनुसार, रमजान महीना अल्लाह की इबादत के लिए होता है। इस महीने की जाने वाली इबादत का सवाब अन्य महीनों से कई गुना ज्यादा मिलता है। रोजेदार के लिए अल्लाह जन्नत की राह खोल देता है।

रमजान माह के प्रमुख तीन हिस्से

रमजान माह के तीस दिनों को तीन हिस्सों में विभाजित किया गया है पहला हिस्सा अशरा (रहमत) का होता है। दूसरा अशरा मगफिरत का और तीसरा हिस्सा अशरा यानि दोजख से आजादी दिलाने का होता है। इस महीने रोजेदार को झूठ नहीं बोलना चाहिए।

ऐसे हुई थी रमजान माह की शुरुआत

इस्लामिक मान्यता के अनुसार, 610 ईसवी में पैगंबर मोहम्मद साहब पर लेयलत-उल-कद्र के मौके पर पवित्र कुरान शरीफ नाजिल हुई थी। तब से रमजान माह को इस्लाम में पाक माह के रूप में मनाया जाने लगा। रमजान का जिक्र कुरान में भी मिलता है। कुरान में जिक्र है कि रमजान माह में अल्लाह ने पैगंबर मोहम्मद साहब को अपने दूत के रूप में चुना है। इसलिए रमजान का महीना मुसलमानों के लिए पाक है।

‘माह-ए-रमजान’ न सिर्फ रहमतों और बरकतों की बारिश का वकफा है बल्कि समूची मानव जाति को प्रेम, भाईचारे और इंसानियत का संदेश भी देता है।  इस पाक महीने में अल्लाह अपने बंदों पर रहमतों का खजाना लुटाता है और भूखे-प्यासे रहकर खुदा की इबादत करने वालों के गुनाह माफ कर दिए जाते हैं।  इस माह में दोजख (नरक) के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं और जन्नत  के दरवाजे खोल दीए जाते हैं।

Advertisement. Scroll to continue reading.

Click to comment

Leave a Reply

Advertisement
Advertisement

You May Also Like

मेरठ

मेरठ कॉलेज (Meerut college) में इतिहास विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर और रालोद के पूर्व नेता डॉ. ज्ञानेंद्र शर्मा का कोराेना के चलते निधन हो...

विशेष दिवस

पूरे विश्व में प्रत्येक वर्ष एचआईवी (HIV) संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करते के उद्देश्य से सन् 1988 से लगातार विश्व एड्स दिवस...

देश

चीन में हर साल डॉग मीट फेस्टिवल का आयोजन होता है। इस फेस्टिवल में अलग-अलग तरह के कुत्तों के मांस की बिक्री होती है...

उत्तरप्रदेश

उत्तर प्रदेश में लव जिहाद रोकने के लिए लाए गए कानून के तहत पहला मुकदमा दर्ज किया गया है। कानून बनने के चंद घंटों...

बिजनौर

बिजनौर (bijnor) के नूरपुर मे कृषि कानून के विरोध में ब्लाक अध्यक्ष लक्ष्मीकांत शर्मा के नेतृत्व में भारतीय किसान यूनियन (bharatiya kisan union) ने...

देश

राजस्थान के जयपुर में एक हाई वोल्टेज तार के संपर्क में आने से बस में आग लग गई। जानकारी के मुताबिक आग से बस...

काम की खबर

EMI, Personal Loan, Home Loan लेने वालों के लिए काम की खबर है। लोन मोरेटोरियम के मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में एक महत्‍वपूर्ण...

दिल्ली

दिल्ली (delhi) के सिंधु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच जारी भिडंत के बीच बड़ी खबर आ रही है। पंजाब और हरियाणा से...

आटोमोबाइल

पिछले कुछ माह में कार, बाइक बनाने वाली कंपनियों ने नुकसान झेला है। जिसके चलते कंपनियां चाहती है कि वह अपने नुकसान की पूर्ति...

फतेहपुर

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर (Fatahpur) जिले के बिंदकी कोतवाली क्षेत्र में जमीन पर कब्जे को लेकर चार महिलाओं ने मिलकर एक महिला को बेरहमी...

कोरोना वायरस

कोरोना ने अचानक से फिर से पैर फैलाने शुरू कर दिए है। जिसके चलते मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। कई राज्यों की...

Movies & Web Series

Naxalbari Web Series Download : mirzapur 2, aashram 2, laxmii bomb movie, chhallang, bicchoo ka khel देख चुके हैं तो zee5 आपके लिए लाया...

Advertisement
%d bloggers like this: