340 किलोमीटर लंबा है पूर्वांचल एक्सप्रेसवे

लखनऊ से पूर्वी यूपी के आखिरी छोर पर बसे गाजीपुर को जोड़ने वाले 340 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेसवे से कुल 9 शहर प्रदेश की राजधानी से कनेक्ट हो जाएंगे।

दिल्ली से सीधे शहर होंगे कई शहर के लोग

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के जरिेये आगरा-लखनऊ और यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए गाजीपुर तक के लोग सीधे दिल्ली से कनेक्ट होंगे।

प्रदेश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे 340 किलोमीटर की लंबाई के साथ मौजूदा वक्त में प्रदेश ही नहीं बल्कि देश का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे बन गया है।

18 फ्लाईओवर 7 ROB

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के अंतर्गत कुल 18 फ्लाईओवर 7 रेलवे ओवर ब्रिज (ROB), 7 बड़े पुल, 118 छोटे पुल, 13 इंटरचेंज (6 टोल शामिल), 05 रैंप प्लाजा, 271 अंडरपास, और 503 पुलिया बनाई गई हैं।

लखनऊ से बिहार की सीमा पर समाप्त् होता है पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की शुरुआत लखनऊ में सुल्तानपुर रोड (एनएच- 731) के पास चांद सराय गांव है। जबकि ये एक्सप्रेस-वे गाजीपुर जिले में यूपी बिहार की सीमा से 18 किलोमीटर पहले हैदरिया गांव में समाप्त होता है।

3.5 कि.मी. की एक एयर स्ट्रिप भी

भारतीय वायुसेना के विमान एवं अन्य विमान आपात लैंडिंग के लिए सुल्तानपुर जिले में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर 3.5 कि.मी. की एक एयर स्ट्रिप बनायी गयी है।

22,494.66 करोड़ हुए खर्च

इसकी कुल लागत 22,494.66 करोड़ रुपए है। अधिकतम मानक रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा है।