गुजरात के सीएम भूपेंद्र पटेल की नई कैबिनेट में बदलाव पर रार, शपथ ग्रहण कल तक टला

गुजरात में नए मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण से मंत्रियों में हलचल हो गई है। बताया जा रहा है कि कैबिनेट में भूपेंद्र  कई मंत्रियों को बदलने वाले हैं। जिसको लेकर वर्तमान विधायक नाराज हो गए हैं। इतना ही नहीं कई विधायक पूर्व सीएम विजय रुपाणी के घर पहुंच गए हैं। 
 | 
gujarat
गुजरात में नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल (Gujarat CM Bhupendra Patel) की कैबिनेट का शपथग्रहण आज हो सकता है।। पहले खबर थी कि दोपहर में शपथग्रहण समारोह आयोजित किया जा रहा है लेकिन बाद में इसे शाम तक के लिए टाल दिया गया। सूत्रों का कहना है कि कुछ नए चेहरों को लेकर विवाद सामने आने के बाद शपथ ग्रहण को टाला गया है। भूपेंद्र पटेल पूरे मंत्रिमंडल में बदलाव चाहते हैं, जिसपर अंदरूनी कलह बढ़ गईञ सूत्रों का कहना है कि भूपेंद्र पटेल कैबिनेट में 22 मंत्रियों का बदलाव करना चाहते हैं। 

 

मुख्यमंत्री कार्यालय  (CMO) की ओर से ट्वीट कर यह जानकारी दी गई है। ट्वीट में लिखा, "भूपेंद्र पटेल की नई कैबिनेट का शपथ ग्रहण राजभवन में कल 16 सितंबर को दोपहर 1.30 बजे होगा।" इससे पहले भाजपा की राज्य इकाई के प्रवक्ता यमल व्यास ने बताया था कि 'नए मंत्रियों के नाम अभी घोषित नहीं हुए हैं, ये मंत्री राजधानी गांधीनगर में दोपहर दो बजे के बाद शपथ लेंगे।' हालांकि, ऐसा नहीं हो रहा है। मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह के गुरुवार को आयोजित होगा। read also : 'चचाजान' पर भड़की AIMIM, कहा- मुजफ्फरनगर दंगे के वक्त कहां थे टिकैत, भाजपा बोली टिकैत विपक्ष के लिए फिल्डिंग कर रहे।

 

मुख्यमंत्री पद से विजय रूपाणी के गत शनिवार को अचानक इस्तीफा देने के बाद सोमवार को केवल भूपेंद्र पटेल (59) ने शपथ ली थी। भारतीय जनता पार्टी की गुजरात इकाई के प्रमुख भूपेंद्र यादव नए मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने वाले लोगों के नाम तय करने के लिए पिछले दो दिनों से गांधीनगर में लगातार बैठकें कर रहे हैं। पढ़ें - मुस्लिम पुरुष का मूर्तिपूजक महिला के साथ निकाह न तो मान्य है और न ही शून्य है, नहीं मिलेगी पेंशन : हाईकोर्ट।

 

ऐसी अटकलें हैं कि पटेल अपने मंत्रिमंडल में कई नए चेहरों को शामिल करेंगे और कई पुराने नेताओं को युवा नेताओं के लिए जगह खाली करनी पड़ सकती है। पटेल को रविवार को सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया था और सोमवार को गांधीनगर में राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने उन्हें राज्य के 17वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई थी।  Read Also : मेरठ में मिला जानलेवा बीमारी स्क्रब टाईफस का पहला मरीज, यूपी में जा चुकी 100 से ज्यादा जान, कोरोना की तरह नहीं है इलाज

 

पटेल को गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश की वर्तमान राज्यपाल आनंदीबेन पटेल का करीबी माना जाता है। उन्हें मुख्यमंत्री बनाये जाने के पीछे यह भी एक कारण माना जा रहा है। ऐसे में जब दिसंबर 2022 में राज्य विधानसभा चुनाव होने की उम्मीद है, भाजपा ने चुनाव में जीत के लिए पटेल पर भरोसा जताया है, जो कि एक पाटीदार हैं। 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।