SDM के घर में घुसे चोर, चोरी करने को कुछ नहीं मिला तो एसडीएम के नाम लेटर लिखकर छोड़ गए, पढ़ें

चोरी की वारदात के बाद चोर के एक लेटर वहां लिखकर रख गए। जो कि अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें चोर उपजिलाधिकारी को ही नसीहत देते दिख रहे हैं।
 | 
devas sdm

whatsapp gif

मध्यप्रदेश में एक मामला सामने आया है जहां चोरों ने उपजिलाधिकारी के सरकारी आवास में ही चोरी की घटना को अंजाम दिया। बंद मकान में चोरी की वारदात के बाद चोर के एक लेटर वहां लिखकर रख गए। जो कि अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें चोर उपजिलाधिकारी को ही नसीहत देते दिख रहे हैं।

 

जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश के देवास जिले के उपजिलाधिकारी के आवास पर चोर चोरी करने घुस गए। बताया जा रहा है कि आवास बंद था, चोरों को घर में चोरी के लिए कुछ भी नहीं मिला। जिससे चोर नाराज हो गए। चोर जाते-जाते एक लेटर लिखकर छोड़ गए। जिसमें लिखा था कि - जब पैसे नहीं थे, तो लॉक नहीं लगाना था कलेक्टर। इतना ही नहीं लेटर पर चोरों ने अपने साइन भी किए हुए हैं। यह भी पढ़ें - Jammu Kashmir के राजौरी सेक्टर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में JCO समेत 5 जवान शहीद।

 

बताया जा रहा है कि यह सरकार आवास सिविल लाइन क्षेत्र में उपजिलाधकारी के त्रिलोचन गौड़ का है। वह पास ही खातेगांव में एसडीएम हैं। बताया जा रहा है कि करीब पंद्रह दिनों से एसडीएम गौड़ अपने सरकारी आवास पर नहीं आए हैं। घर पर ताला लगा देख चोर मौका पाकर घर में कूद गए और चोरी की घटना को अंजाम दिया। 

  मेरठ में मोबाइल, टीवी, फ्रिज को किस्तों पर खरीदने के लिए संपर्क करें : अवंतिका इलेक्ट्रॉनिक्स : 9012696979 

यह लिखा चोरों ने

thaft later
चोरों द्वारा उपजिलाधिकारी के सरकारी आवास में छोड़ा गया लेटर।

 

जब मैं लौटा तो सामान फैला पड़ा था : एसडीएम

 एसडीएम त्रिलोचन गौड़ के मुताबिक काफी दिनों से वह अपने आवास पर नहीं आ सके। अब जब वह आए तो देखा घर का पूरा सामान फैला पड़ा था। इस मामले में थाना प्रभारी उमराव सिंह के मुताबिक गौड़ खातेगांव में पदस्थ हैं, बीते कुछ दिनों से उनका मकान बंद था। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। यह भी पढ़ें - ₹1000 से भी कम कीमत में मिल रहे हैं ब्रांडेड कंपनियों के Earbuds, गजब की साउंड क्वालिटी और लंबी बैटरी लाइफ जैसे फीचर्स।

Shudh bharat

 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।