लखीमपुर खीरी हिंसा: केंद्रीय मंत्री का हत्यारोपी बेटा अशीष मुंह छिपाकर पहुंचा क्राइम ब्रांच के दफ्तर, गिरफ्तारी होना तय

अजय सिंह ने समर्थकों से कहा कि यदि ऐसी वैसी कोई बात हो भी गई तो हम आपके साथ हैं। यदि आशीष की गिरफ्तारी हुई तो अजय मिश्रा के इस बयान को एक तरह से सरकार के लिए धमकी के तौर पर देखा जा रहा है। 

 | 
ashish mishra teni
लखीमपुर हिंसा का मुख्य आरोपी और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा का बेटा अशीष मिश्रा शनिवार को मुंह छिपाकर क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गया। सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बाद क्राइम ब्रांच ने उसके घर पर नोटिस चस्पा कर उसे शुक्रवार को अपने दफ्तर तलब किया था, लेकिन वह नहीं पहुंचा था। जिसके बाद कोर्ट से दोबारा लताड़ लगने पर क्राइम ब्रांच ने उसके घर पर नोटिस चस्पा कर शनिवार सुबह 11 बजे अपने दफ्तर में पेश होने को कहा था, लेकिन आशीष सुबह 10:36 बजे ही क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंच गया।

 

अजय मिश्रा पर बड़े नेता का दबाव पड़ा तो पेश हुआ अशीष

मुंह रूमाल से छिपाकर क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंचे आशीष को अधिकारी पिछले दरवाजे से अंदर ले गई। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस ने आसपार बैरिकेटिंग की है। सूत्रों का कहना है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा नहीं चाहते थे कि, वे बार-बार अपने हत्यारोपी बेटे का बचाव कर रहे थे। उधर भाजपा और सरकार की छवि खराब होने के साथ ही सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के चलते किसी बड़े नेता का संदेश अजय सिंह के पास गया और इसी बड़े नेता ने अजय पर आशीष को पुलिस के सामने पेश करने का दबाव बनाया। इस दबाव के बाद केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि आशीष शनिवार को पुलिस के सामने पेश होगा और जांच में सहयोग करेगा। 

 

Shudh

अब भी खुलकर बयानबाजी कर रहे अजय मिश्रा

हालांकि इतना सब हो जाने के बाद भी केंद्रीय मंत्री खुलकर बयानबाजी कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी में भाजपा दफ्तर में अजय सिंह मौजूद हैं। यहां काफी गहमागहमी का माहौल है। समर्थकों की भीड़ दफ्तर के बाहर मौजूद हैं। समर्थक किसानों को आतंकवादी बताते हुए आशीष का बचाव कर रहे हैं। अजय सिंह ने दफ्तर की बालकनी से समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि आशीष को सिर्फ पूछताछ के लिए बुलाया गया है, इस मामले की निष्मक्ष जांच होगी। यदि ऐसी वैसी कोई बात हो भी गई तो हम आपके साथ हैं। यदि आशीष की गिरफ्तारी हुई तो अजय मिश्रा के इस बयान को एक तरह से सरकार के लिए धमकी के तौर पर देखा जा रहा है। Read Also : ABP C-Voter Survey: उत्तर प्रदेश समेत 5 राज्यों में किसकी बनेगी सरकार, आया सर्वे का परिणाम; पढ़ें
 

आशीष की गिरफ्तारी हाेना तय

हालांकि अभी भी अफसर इस बात का जवाब नहीं दे रहे हैं कि आशीष की गिरफ्तारी होगी या नहीं। आशीष से पूछताछ के लिए DIG  और SP मौके पर हैं। बताया जा रहा है कि आशीष अपने साथ 12 से ज्यादा पेन ड्राइव लेकर क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंचा है। बताया यह भी जा रहा है कि इन पेन ड्राइव में कुछ वीडियो हैं जिनसे अशीष यह साबित करेगा कि घटना के वक्त वह कहां था। सूत्रों का कहना है कि पूछताछ के बाद केंद्रीय मंत्री के हत्यारोपी बेटे की गिरफ्तारी तय है, क्योंकि स्थानीय लोगों का दावा है कि किसानों को कुचलने वाली जीप के साथ चल रही फॉच्यूनर गाड़ी में आशीष सवार था। माना यह भी जा रहा है कि अब आशीष की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं।

 

advt.

40 सवालों की लिस्ट बनाई पूछताछ के लिए

सूत्रों के मुताबिक आशीष से पूछताछ के लिए पुलिस ने 40 सवालों की लंबी लिस्ट बनाई है। उससे पूछा जाएगा कि हिंसा के वक्त वह कहां था और इस हिंसा में उसका क्या रोल है।आशीष के कानूनी सलाहकार अवधेश कुमार का कहना है कि क्राइम ब्रांच से मिले नोटिस का वे सम्मान करेंगे और जांच में हर तरह से सहयोग करेंगे। माहौल है।

 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।