Connect with us

Hi, what are you looking for?

गाजियाबाद

खुद को US आर्मी में बता इस लड़की ने दोस्ती कर गाजियाबाद के युवक से ठगे 30 लाख, फेसबुक पर अभी भी एक्टिव, रहें अलर्ट

फेसबुक (Facebook) पर कोई खूबसूरत लड़की खुद को अमेरिकी आर्मी (US Army Fraud) का अधिकारी बता दोस्ती करे तो सावधान हो जाइए। ये जरूर चेक कर लें कि कहीं वो यही लड़की तो नहीं है? हो सकता है कि ये लड़की पहले आपसे दोस्ती करे और फिर कोई ना कोई बहाना बनाकर या लाखों डॉलर भेजने के नाम पर पैसे ठग ले।

The420 की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली से सटे गाजियाबाद में रहने वाले एक युवक को इमोशनल ट्रैप में लेकर साइबर क्रिमिनल (Cyber Criminal Gang) गैंग ने करीब 30 लाख रुपये ठग लिए और अभी भी 32 लाख रुपये की डिमांड कर रहे हैं। पीड़ित ने इस घटना की पहले गाजियाबाद में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। अब ये मामला नोएडा साइबर क्राइम (Cyber Crime Police) थाने में आया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जनवरी 2020 में फेसबुक पर की दोस्ती, फिर ईमेल पर फोटो भेज बना लिया अपना

साइबर क्राइम की ठगी के शिकार हुए युवक गाजियाबाद में रहते हैं। इनका इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का सर्विस सेंटर है। जनवरी 2020 में SGT LORA PACE नाम की फेसबुक आईडी से इन्हें फ्रेंड रिक्वेस्ट मिली थी। इस रिक्वेस्ट को इन्होंने स्वीकार कर लिया था। इसके बाद लोरा (Lora) इनसे चैट करने लगी थी। लोरा ने खुद को यूएस आर्मी का अधिकारी बताया था। इसके लिए उसने ट्रेनिंग करते हुए की कुछ फोटो भी भेजी थी। जिसे देख युवक को भरोसा हो गया था।

इसके बाद रात में अक्सर दोनों के बीच चैट होने लगी थी। कुछ दिनों की चैट में ही लोरा ने बताया कि उसके पति की कार एक्सीडेंट में मौत हो गई थी। इसलिए वो अपनी बात शेयर करने के लिए एक दोस्त की तलाश कर रही थी। इमोशनल बातें कर लोरा ने युवक को अपने झांसे में ले लिया और शादी करने तक की बात कहने लगी।

ऐसे फंसाया : अफगानिस्तान में पोस्टिंग बताई और बोली जंगल में मिला है 150 लाख डॉलर से भरा बैग

the420 पोर्टल की रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित युवक ने बताया कि लोरा अक्सर रात में ड्यूटी से फ्री होने के बाद चैट करती थी। उसने बताया कि अमेरिका से उसकी पोस्टिंग अफगानिस्तान में हो गई है। यहां काफी जंगल वाले एरिया में उसकी ड्यूटी है। इसलिए कई बार वो डरकर भी देर तक बात करती है। एक दिन अचानक उसने बताया कि उसे एक बैग मिला है। जिसमें 1.5 मिलियन (150 लाख) डॉलर हैं (यानी करीब 11 करोड़ रुपये) हैं। लोरा ने ये भी बताया कि अगर वो इन डॉलर को अमेरिका ले जाती है तो चेकिंग में पकड़ी जाएगी। इस तरह उसकी नौकरी भी चली जाएगी और जेल भी हो सकती है।

ऐसे में वो इन डॉलर को इंडिया में भेज सकती है। वहां उसकी एक दोस्त मोना है जो बैग को आसानी से उस तक पहुंचा सकती है। इस तरह पीड़ित झांसे में आ गए। इसके बाद अफगानिस्तान से इंडिया बैग आने पर कोरियर के तौर पर पहले 77 हजार रुपये जमा कराए गए। कोरियर मिलने के बाद मोना ने कॉल कर कहा कि उसे कस्टम विभाग का एक फॉर्म भरना होगा और जिसके नाम पर कोरियर है उसे करीब 2 लाख रुपये देने होंगे।

Advertisement. Scroll to continue reading.

इस तरह पीड़ित ने दो लाख रुपये उनके बताए अकाउंट में जमा कर दिए। इसके बाद क्रिस बिलियन नामक एक व्यक्ति का फोन आया और उसने टैक्स क्लीयरेंस तो कभी दूसरे बहाने बनाकर कुल 30 लाख रुपये ले लिए। इतने पैसे देने के बाद भी बैग नहीं मिला और लोरा ने भी बात करना बंद कर दिया तब इन्हें ठगी का अहसास हुआ।

मुंबई और दिल्ली के बैंक खातों में पैसे डाले गए, लेकिन गाजियाबाद पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई

पीड़ित का आरोप है कि मार्च 2020 में ही इस ठगी की शिकायत गाजियाबाद के कविनगर थाने में दर्ज करा दी थी। इस दौरान जिन अकाउंट में पैसे डाले गए थे उनकी डिटेल भी निकलवाई। इस दौरान पता चला कि जिन खातों में पैसे डाले हैं उनमें से 4 बैंक खाते मुंबई, 2 फरीदाबाद और 6 से ज्यादा खाते दिल्ली के लाडो सराय, जहांगीरपुरी व अन्य इलाके के हैं। लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने किसी के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया। पीड़ित ने मामले की शिकायत सीएम पोर्टल पर की। जिसके बाद केस को ट्रांसफर नोएडा भेजा गया। अब नोएडा साइबर क्राइम थाने की पुलिस ने मामला दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

नाइजीरियन गैंग की है साजिश, भरोसा जीतने के लिए ऐसे पासपोर्ट भी भेजते हैं

पीड़ित ने बताया कि विदेशी युवती लोरा ने भरोसा जीतने के लिए अपना पासपोर्ट भी भेजा था। पासपोर्ट में उसका नाम और फोटो थी। जिसे देखकर भरोसा हो गया था कि वो अमेरिका की है और आर्मी में तैनात है। इसलिए आसानी से झांसे में आ गया। इस बारे में यूपी के एसपी साइबर क्राइम प्रो. त्रिवेणी सिंह ने बताया कि ऐसे क्राइम को नाइजीरियन गैंग अंजाम देता है। ये गैंग दिल्ली या एनसीआर में कहीं रहकर देश भर के लोगों को निशाने पर ले रहा है। जिनके बारे में पुलिस टीम  पता लगा रही हैं। दरअसल, ये गैंग फेसबुक या दूसरे किसी सोशल मीडिया के जरिए लड़की बनकर पहले दोस्ती करते हैं और फिर लाखों डॉलर का लालच देकर ठगी करते हैं। इसलिए कभी भी किसी विदेशी लड़की के फ्रेंड रिक्वेस्ट के लालच में ना फंसे।

Advertisement. Scroll to continue reading.
1 Comment

1 Comment

  1. Hiten Chaudhary

    06/02/2021 at 10:52

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You May Also Like

Advertisement
Advertisement
Advertisement
DMCA.com Protection Status