Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

केंद्र सरकार ने राज्यों को दिए 14 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाने के निर्देश; जानें इस बार कैसी होंगी पाबंदियां

कोरोना की रफ्तार को देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्यों से कहा है कि जिन इलाकों में संक्रमण ज्यादा है, वहां पर 14 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाया जाए, ताकि संक्रमण की चेन तोड़ी जा सके। हालांकि केंद्र ने पूरे राज्य और जिले में लॉकडाउन लगाने की सिफारिश नहीं की है। केंद्र ने राज्यों को उन इलाकों की जानकारी जुटाने के लिए कहा है जहां संक्रमण दर 10 % या उससे अधिक है। इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी लॉकडाउन लगाने की सिफारिश की है।

यूपी में बेड की कमी नहीं! मेडिकल कॉलेज में कोविड मरीजों का इलाज करने वाली नर्स के पति को ही न बेड मिला न ऑक्सीजन; तड़प-तड़प कर तोड़ दिया दम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि, अगर किसी एक स्थान पर ज्यादा मरीज मिल रहे हैं तो वहां स्थानीय लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इसके अलावा वहां भी लॉकडाउन लगाया जाए जहां पहले से संक्रमण ज्यादा है। मंत्रालय के मुताबिक, देश में 250 जिलों में कोरोना संक्रमण दर 10 फीसदी या उससे ज्यादा है। हालांकि कुछ जिलों में बीते सप्ताह से संक्रमण में कमी आई है। ऐसे में राज्य सरकारें नए सिरे से उन जिलों या स्थान की पहचान करें जहां ज्यादा मामले मिल रहे हैं।

केंद्र सरकार ने पूरे राज्यों और जिलों में लॉकडाउन म लगाने को भी कहा है। सरकार के मुताबिक जिलों में एक शहर, गांव या कस्बा सबसे अधिक प्रभावित है, जबकि अन्य स्थानों पर संक्रमण का एक भी मामला नहीं है। ऐसी स्थिति में पूरे जिले में लॉकडाउन लगाने से बेहतर होगा कि संक्रमण प्रभावित शहर, गांव या कस्बे में ही 14 दिन का लॉकडाउन लगाया जाए।

Advertisement. Scroll to continue reading.

सबसे बड़ी बात यह है कि इस बार के लॉकडाउन के दौरान स्थिति को संभालने की जिम्मेदारी स्थानीय पुलिस की बजाए सेना के कंधों पर डाली जा सकती है। पूरे लॉकडाउन के दौरान सेना ही मोर्चा संभालेगी। इसके लिए सेना और अर्द्धसैनिक बलों को अलर्ट कर दिया गया है।

बता दें कि दूसरी लहर के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण ने पूरी तरीके से तबाही मचा रखी है। संक्रमण की दर इतनी अधिक तेज है कि देश की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। ज्यादातर राज्यों के अस्पतालों में बिस्तर, डॉक्टर, ऑक्सीजन, मेडिसीन और अन्य चिकित्सकीय उपकरणों की घनघोर कमी देखने को मिल रही है। रोजाना तीन लाख से ऊपर लोग संक्रमित हो रहे हैं और हजारों लोगों की कोरोना से मौत हो जा रही है।

Khabreelal News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… हमारी कम्युनिटी ज्वाइन करे, पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें

Advertisement. Scroll to continue reading.
Whatapp ग्रुप ज्वाइन करेJoin
Youtube चैनल सब्सक्राइब करेSubscribe
Instagram पर फॉलो करेFollow
Faceboook Page फॉलो करेFollow
Tweeter पर फॉलो करेFollow
Telegram ग्रुप ज्वाइन करेJoin
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

Advertisement