Connect with us

Hi, what are you looking for?

देश

कोटा में फंसे बिहार के छात्र अनशन पर बैठे, नितिश कुमार से की घर बुलवाने की अपील

कोटा में कोचिंग करने आए बिहार के छात्रों ने घर वापसी के लिए अनशन शुरू किया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोटा से बच्चों को उनके राज्यों में भेजने का विरोध जता चुके हैं। साथ ही नीतीश बिहार के बच्चों को बुलाने को तैयार नहीं हैं। अभी भी बिहार के करीब 11 हजार, झारखंड के 3 हजार, पश्चिम बंगाल और छत्तीसगढ़ के ढाई-ढाई हजार, महाराष्ट्र के 1800 और ओडिशा के करीब एक हजार बच्चे हॉस्टलों में मौजूद हैं।

बिहार के छात्र तो अपने हॉस्टलों में ही उपवास कर रहे हैं। स्लोगन लिखी हाथों में तख्तियां लेकर वे नीतीश सरकार से घर बुलवाने की अपील कर रहे हैं। स्टूडेंट्स बुरा न देखो, बुरा न सुनो, बुरा न बोलो का संदेश भी दे रहे हैं, क्योंकि उनकी आवाज नहीं सुनी जा रही। उन्होंने बताया कि ये सब अपनी आवाज बिहार सरकार तक पहुंचाने के लिए कर रहे हैं, ताकि जल्द घर जा सकें।

मप्र, दादर और दमन-दीव के स्टूडेंट्स रवाना, आज असम-हरियाणा के जाएंगे
उधर, दूसरे राज्यों के कोचिंग स्टूडेंट्स लगातार घरों को लौट रहे हैं। अभी तक लगभग 16 हजार से ज्यादा छात्र अपने घरों को पहुंच चुके हैं, जबकि करीब 22 हजार छात्र अभी भी कोटा में है। इन्हें भी उनके घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था प्रशासन की ओर से की जा रही है। गुरुवार को मध्य प्रदेश के बचे हुए छात्रों और दादरा-नगर हवेली और दमन-दीव और कोटा, बूंदी, झालावाड़ के करीब 344 छात्रों को कोटा से रवाना किया गया।

कोरोना के कारण लॉकडाउन में फंसे छात्रों को घरों तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से प्रयास किए जा रहे हैं। अन्य प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से बात की जा रही है। इसी का नतीजा रहा कि पहले उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के करीब 12 हजार 700 छात्र अपने घरों पर पहुंच गए। इसके बाद बुधवार को मध्य प्रदेश और गुजरात के करीब 3542 छात्रों को उनके घर भेजा गया। मध्य प्रदेश के बचे हुए 30, दादरा और नगर हवेली के 38, दमन-दीव के 6 छात्रों को गुरुवार को रवाना किया गया। बारां, बूंदी और झालावाड़ के करीब 270 कोचिंग छात्रों को भी बसों से रवाना किया गया है। 

Advertisement. Scroll to continue reading.

असम और हरियाणा से आईं 49 बसें
एडीएम एनके गुप्ता के मुताबिक, असम के छात्रों के लिए 18 और हरियाणा के छात्राें काे लेने के लिए 31 बसें काेटा पहुंच चुकी है। इन बसाें में शुक्रवार काे करीब 1500 छात्र रवाना हाेंगे। इसके अलावा बाकी काेचिंग छात्राें के लिए रजिस्ट्रेशन करवाकर उनकी लिस्ट तैयार की गई है। बताया गया कि अभी भी काेटा में 22 हजार काेचिंग छात्र हैं, जिसमें सबसे ज्यादा तादाद करीब 8 हजार बिहार के छात्राें की है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, झारखंड, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, ओडिशा और राजस्थान के कई जिलाें के छात्र हैं। इनके लिए भी प्रशासन की ओर से लगातार कोशिशें जारी है।

राजस्थान के छात्रों को आज और कल भेजा जाएगा 
कोटा में कोचिंग कर रहे राजस्थान के कई जिलों के छात्रों को 24 और 25 अप्रैल को भेजा जाएगा। कलेक्टर ओम कसेरा ने बताया कि 24 को शाम 6 बजे बीकानेर, बाड़मेर, हनुमानगढ़, जैसलमेर और श्रीगंगानगर के लिए बसें रवाना होंगी। इसी दिन शाम 7 बजे जोधपुर, सिरोही, झुंझुनूं, चूरू और जालौर और रात 8 बजे बांसवाड़ा, धौलपुर, पाली, नागौर, डूंगरपुर, सीकर, अलवर और भरतपुर के लिए बसें रवाना होंगी। रात 9 बजे करौली, राजसमंद, जयपुर, दौसा, प्रतापगढ़ और उदयपुर के लिए बसें जाएंगी। 25 को सुबह 10 बजे सवाई माधोपुर, टोंक, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़ और अजमेर के लिए बसें रवाना होगीं।

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Advertisement
Advertisement

और खबरें पढ़ें

उत्तरप्रदेश

मेरठ जिले के गंगानगर में बृहस्पतिवार शाम हुई हत्या के मामले में और कई चीजें निकलकर सामने आई हैं। जानकारी के मुताबिक आरोपी पुनीत...

उत्तरप्रदेश

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के गंगानगर से एक घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि घर में टाइल्स लगाने का काम...

उत्तरप्रदेश

उत्तर प्रदेश के मेरठ के पल्लवपुरम थाना क्षेत्र से एक मामला सामने आया है। जहां एक व्यक्ति ने बृहस्पतिवार सुबह गृहक्लेश में फांसी लगाकर...

Advertisement