मेरठ : IIMT University में चिली के राजदूत ने कहा- 'भारत और चिली के बीच 73 साल से है दोस्ती के संबंध'

उन्होंने नए राष्ट्रपति गेब्रियल बोरिक की प्रशंसा की। कहा सिर्फ 36 साल के गेब्रियल चिली के अभी तक के सबसे कम उम्र राष्ट्रपति बने हैं।
 | 
iimt university
मेरठ के गंगानगर में स्थित आईआईएमटी यूनिवर्सिटी (IIMT University) में बृहस्पतिवार को चिली के राजदूत जुआन अंगुलो (Chilean Ambassador Juan Angulo) और तीसरी सचिव व काउंसिल अमरंत वंदेपरे ने छात्रों से संवाद किया। छात्रों के साथ अपने देश और भौगोलिक परिस्थितियों को साझा करते हुए राजदूत जुआन ने छात्रों के सवालों का बेबाकी से जवाब भी दिया।

 

भारत को 73 साल पुराना दोस्त बताते हुए राजदूत ने बताया कि भारत के साथ सभी क्षेत्रों में व्यापार और शिक्षा के जगत में रिश्तों को और आगे बढ़ाने की जरूरत है। इस मौके पर आईआईएमटी विश्वविद्यालय और चिली के बीच शिक्षा और शोध के विषय में विनिमय को लेकर सकारात्मक वार्ता भी हुई।

 

चिली की संस्कृति के बारे में बताया 


आईआईएमटी विश्वविद्यालय (IIMT University Meerut) पहुंचे चिली के राजदूत जुआन अंगुलो ने छात्रों को अपने देश की परिस्थितियों और संभावनाओं के बारे में बताया। वरिष्ठ शिक्षक एकता शर्मा ने राजदूत जुआन अंगुलो (Chilean Ambassador Juan Angulo) और थर्ड सेक्रेटरी और काउंसिल अमरंद वंदेपरे(Third Secretary and Council Amarand Vandepre)  का स्वागत किया। उन्होंने चिली की बहुरंगी संस्कृति का परिचय देते हुए चिली की लगभग सभी विशेषताओं का सूक्ष्म परिचय भी दिया। read : Tata Electric car : कल लॉन्च होगी टाटा मोटर्स की नई Eletric car, जानें क्या होंगे फीचर्स

iimt

 36 साल के है चिली के राष्ट्रपति गेब्रियन


विश्वविद्यालय की शिक्षिका वत्सला तोमर ने अतिथियों का परिचय छात्रों से कराया। राजदूत जुआन अंगुलो ने छात्रों से सीधे संवाद करते हुए चिली में हालिया दौर में जारी सियासी बदलावों पर प्रकाश डाला। उन्होंने नए राष्ट्रपति गेब्रियल बोरिक की प्रशंसा की। कहा सिर्फ 36 साल के गेब्रियल चिली के अभी तक के सबसे कम उम्र राष्ट्रपति बने हैं। उन्होंने गेब्रियल के मंत्रिमंडल और आम जनमानस पर इसके प्रभाव को बारीकी से समझाते हुए इसे चिली के इतिहास में एक नया अध्याय करार दिया। 

 

भारत चिली का 73 साल पुराना दोस्त : राजदूत


भारत के साथ आर्थिक, सांस्कृतिक, सामरिक, शैक्षणिक और व्यापारिक संबंधों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए जुआन अंगुलो ने बताया कि भारत चिली का 73 साल पुराना दोस्त है। 1947 में भारत आजाद हुआ था और 1949 में ही भारत में चिली का दूतावास बना दिया गया था। तभी से भारत के साथ चिली का सहयोग का रिश्ता रहा है।   Read More: नोकिया कंपनी ने लॉन्च किए 1400 रुपये से भी कम कीमत वाले 2 शानदार फीचर फोन, देखें पूरी डिटेल

priyanka

चिली हर कदम पर भारत का साथी 


भारत के साथ चिली के व्यापारिक संबंधों को गहराई से समझाते हुए जुआन अंगुलो ने दावा किया कि चिली हर कदम पर भारत का साथी रहा है। उन्होंने हालिया दौर में फार्मास्युटिकल के क्षेत्र में भारत की सफलता का जिक्र भी किया। उन्होंने बताया कि चिली भारत से साथ जीवन रक्षक दवाओं के क्षेत्र में व्यापारिक समझौता करना चाहता है। राजदूत के अभिभाषण के बाद राजदूत जुआन अंगुलो का छात्रों के साथ सीधा संवाद का सेशन भी रखा गया।

 

सेमिनार हॉल के बाद राजदूत ने आईआईएमटी विश्वविद्यालय परिसर और शोध विभाग में जाकर इन्क्यूबेटर का सर्वेक्षण भी किया। विश्वविद्यालय के प्रो वाइस चांसलर डॉ सतीश बंसल (IIMT Pro Vice Chancellor Dr. Satish Bansal) ने राजदूत जुआन अंगुलो और काउंसिल अमरंद वंदेपरे को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। संचालन एकता शर्मा ने किया। 

devanant hospital

 

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।