केंद्रीय मंत्री महेंद्र पांडेय बोले: जिले में उद्योगों को आगे लेे जाने में हैं बड़ी संभावनाएं, हर संभव मदद की जाएगी

सम्मेलन आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत किया गया। सम्मेलन में विदेश व्यापार कैसे बढ़े और जिले के अन्य उत्पाद कैसे निर्यात हों, इस विषय पर मंथन किया गया।

 | 
Meerut
उत्तरप्रदेश के मेरठ स्थित आईआईए भवन में एक दिवसीय उद्याेगपतियाें का सम्मेलन (निर्यातक सम्मेलन) किया गया। कार्यक्रम में उद्याेगपतियाें ने जिले की संभावनाओं के संबंध में बताया। साथ ही अपनी समस्याएं बताईं। बेहतर काम के लिए सुझाव भी दिए। मंत्रियों और जिला प्रशासन के अफसरों ने हर संभव मदद करने का भरोसा दिया है। सम्मेलन में मुख्य अतिथि केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भारी उद्योग महेंद्र नाथ पांडे, विशिष्ठ अतिथि केंद्रीय राज्य मंत्री ग्रामीण विकास, उपभोक्ता मामले, खाद्य और लोक वितरण मंत्री साध्वी निरंजन और सांसद राजेंद्र अग्रवाल रहे।

 

सम्मेलन आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत किया गया। सम्मेलन में विदेश व्यापार कैसे बढ़े और जिले के अन्य उत्पाद कैसे निर्यात हों, इस विषय पर मंथन किया गया। जिले से निर्यात किए जा रहे विभिन्न उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई गई थी, जिसका अतिथियों ने निरीक्षण किया। इस निर्यात सम्मेलन में आईआईए के मेरठ चैप्टर चेयरमैन सुमनेश अग्रवाल और सेक्रेटरी विभार अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत किया। Read Also : Who is Sneha Dubey: UNGA में पाकिस्तान के 'कश्मीर पर झूठ' की 'स्नेहा दुबे' ने उड़ा दी धज्जियां, इमरान खान को लगाई लताड़

 

Meerut
निर्यातक सम्मेलन में मौजूद अतिथि

निर्यात के क्षेत्र में आगे आएं व्यापारी: पांडे

केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भारी उद्योग महेंद्र नाथ पांडे ने कहा कि जिले में अच्छी संभावनाएं देखते हुए निर्यात के क्षेत्र में आगे आएं। उत्पादकों, उद्यमियों को आश्वस्त किया कि जिले में विभिन्न शासकीय एजेंसियों से जो भी सहयोग हाेगा, किया जाएगा। सांसद राजेंद्र अग्रवाल ने निर्यात प्रोत्साहन के लिए शासन की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। अपर आयुक्त उद्योग चैत्रा वी ने आजादी का अमृत महोत्सव की जानकारी दी। ईईपीसी इंडिया के रीजनल निदेशक राकेश सूरज ने भी संबोधित किया। डीजीएफटी की ओर से डिस्ट्रिक एक्सपोर्ट हब एवं एक्सपोर्ट अवेयरनेस स्कीम के बारे में जानकारी दी। सहायक आयुक्त शैलेंद्र सिंह ने एक्सपोर्ट अवेयरनेस स्कीम के बारे में निर्यातकों को विस्तार से जानकारी दी।

 

सम्मेलन में जिले के 50 उद्यमी हुए शामिल

ज़िले के निर्यातकों ने विचार मंच से साझा किए। प्रशासन द्वारा उन्हें कुछ निर्यातकों की सफलता कही कहानी बताई गई। उत्पादक, उद्यमियों को निर्यात की बारीकियों, जरूरत, संभावनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी मिली। जिले के स्टेक होल्डर्स को निर्यात में आने वाली दिक्कतों, शासन से सहयोग के तरीके के बारे में बताने  अधिकारियों ने बातें रखीं। निर्यात सम्मेलन में उद्यमी, उत्पादक, निजी उत्पादक एनजीओ, लघु वनोपज प्रसंस्करणकर्ता मौजूद रहे। समारोह में निर्यातकों को सम्मानित किया गया।

 

समारोह में मैसर्स गुजराल इंडस्ट्रीज गगोल रोड, मैसर्स स्टेन्फोर्ड क्रिकेट इंडस्ट्री विक्टोरिया पार्क तथा मैसर्स सारू कॉपर एलॉय सेमिस प्राइवेट लिमिटेड  सारू नगर कंकरखेड़ा के प्रतिनिधियों को भी सम्मानित किया गया। उपायुक्त उद्योग वीके कौशल ने अतिथियों को स्मृति चिहन देकर सम्मानित किया और धन्यवाद प्रस्ताव के जरिए सभी अतिथियों और आंगतुकों का आभार जताया। इस दौरान सहायक प्रबंधक दिनेश आर्य और अनुज लवानिया भी मौजूद रहे।

 

इस सम्मेलन का यह है उद्देश्य

  • ज़िले के अन्य उद्यमियों, प्रसंस्करणकर्ताओं को एक मंच पर लाकर विचार-विमर्श कर निर्यातकों के अनुभव का लाभ लेते हुए दूसरों को भी आगे बढ़ने प्रोत्साहित करना।
  • शासकीय एजेंसियां जैसे बैंक, विभाग आदि के जरिए शासकीय सहयोग की जानकारी देते हुए उनको निर्यात के लिए प्रोत्साहित करना।
  • एक मंच से लिए गए निर्णय से जिले की निर्यात की संभावनाओं को बढ़ाते हुए अर्थव्यवस्था में उनकी भागीदारी को एक बेहतर दिशा देना।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।