मेरठ : घर में दुपट्टे से बनाया झूला झूल रहे थे भाई-बहन, तभी झूला फंसा बच्ची की गर्दन में, फांसी लगने से 12 साल की मासूम की मौत

मां ने दुपट्टे का झूला बनाकर छत पर लगी बीम पर लटका रखा था। बीम पर पंखा भी लगा हुआ था। वंशिका और उसका भाई दोनों झूल रहे थे। अचानक दुपट्टे का झूला बच्ची के गले में फंस गया। भाई कुछ समझ पाता, इससे पहले ही वंशिका की मौत हो चुकी थी। छोटे भाई ने पिता को हादसे की जानकारी दी।
 | 
MRT
सदर बाजार में वेस्ट एंड रोड स्थित एक मकान में दुपट्टे के झूले में उलझकर 12 वर्षीय बालिका की मौत हो गई। बालिका अपने आठ वर्षीय भाई के साथ घर में झूल रही थी। दुपट्टे का झूला बालिका के गले में फंसने से फंदा बन गया, जिससे उसकी मौत हो गई। छोटे भाई ने तत्काल पिता को सूचना दी। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और फोरेंसिक टीम को भी बुलाया गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।   

मेरठ के वेस्ट एंड रोड स्थित एसडी गर्ल्स इंटर कॉलेज के पीछे दीपक कुमार का परिवार रहता है। उनकी 12 वर्षीय बेटी वंशिका एसडी गर्ल्स इंटर कॉलेज में कक्षा छह में पढ़ती थी। शुक्रवार को मां ने दुपट्टे का झूला बनाकर छत पर लगे बीम पर लटका दिया। उक्त बीम में पंखा भी लगा हुआ था। सुबह मां काम पर चली गई, जबकि दीपक घर के दूसरे कमरे में लेट गया। वंशिका और उसका भाई दोनों झूल रहे थे।

 

थाना प्रभारी शशांक मिश्रा ने बताया कि अचानक दुपट्टे का झूला बालिका के गले में फंस गया। भाई कुछ समझ पाता, उससे पहले ही वंशिका की मौत हो चुकी थी। छोटे भाई ने दीपक को हादसे की जानकारी दी। इसके बाद आसपास के लोगों की भीड़ जुट गई। फोरेंसिक टीम की जांच में पता चला कि झूलते समय दुपट्टा बच्ची के गले में लिपट गया और फंदा बन गया, जिससे वंशिका की मौत हो गई।हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत की सही वजह पता चलेगी। 

KINATIC 

झूले पर झूलाते समय बच्चों को ऐसे बचाएं
  • बच्चे के झूले से उतरने से पहले झूले को पूरी तरह बंद कर दें।
  • बच्चे को झूले पर कभी अकेला न छोड़ें, यानी सावधानी बरतें।
  • झूले पर एक से अधिक बच्चों का एक साथ बैठना असुरक्षित है।
  • बच्चे को चलते झूले पर चढ़ने से रोकें।
  • झूले के आसपास कोई नुकीली चीज नहीं होनी चाहिए।प्लास्टिक या रबर जैसी मुलायम सामग्री से बने झूले का चयन करें। दुपट्टे, धातु या लकड़ी से बने झूले से बचें।
  • झूले पर खड़े होकर या घुटनों के बल बैठकर झूलना बच्चों के लिए खतरनाक है।
  • झूला झुलाते समय बच्चे को दोनों हाथों से झूले की साइड वाली रस्सियां ​​पकड़वाएं।

sonu

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।