मेरठ : सदर थाने में देर रात लगी भीषण आग, सामान और रिकॉर्ड जलकर राख, एसी ब्लास्ट बताया जा रहा आग लगने का कारण

इस भीषण गर्मी में एसी फटने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। अभी तक हमने घरों में एसी फटने की खबरें सुनी हैं, आज एक पुलिस स्टेशन में लगा एसी फट गया और भीषण आग लग गई जिसमें सामान और रिकॉर्ड जलकर राख हो गए।
 | 
MRT
मेरठ के सदर थाने में बुधवार देर रात एसी ब्लास्ट होने से आग लग गई। घटना के बाद थाने में अफरा-तफरी मच गई। वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने भागकर अपनी जान बचाई। आग की चपेट में आकर कई वाहन भी जलकर राख हो गए। सूचना मिलने पर दमकल की गाड़ी मौके पर आई और आग बुझाने का प्रयास किया। लोगों ने भी आग बुझाने में पुलिसकर्मियों की मदद की। आसपास खड़े वाहन भी आग की चपेट में आ गए।READ ALSO:-उत्तर प्रदेश के निजी स्कूलों में 6 से 14 साल तक के बच्चों को मिलेगी मुफ्त शिक्षा, आवेदन की अंतिम तिथि 20 जून....

 

आग में पूरा थाना जलकर राख हो गया। सारा रिकॉर्ड और फर्नीचर भी जल गया है। थाने के अंदर लगी आग से जहां पुलिसकर्मियों में अफरा-तफरी मच गई, वहीं बाजार में भी अफरा-तफरी मच गई। थाने से सटी दुकान को खाली करा लिया गया। दमकल की गाड़ी मौके पर आई और आग बुझाने का प्रयास किया। लोगों ने भी आग बुझाने में पुलिसकर्मियों की मदद की। आसपास खड़े वाहन भी आग की चपेट में आ गए।

 


नोएडा और गाजियाबाद में एसी फटने की घटनाएं
बता दें कि इस सीजन में दिल्ली से सटे नोएडा और गाजियाबाद शहरों में एसी फटने की कई घटनाएं हो चुकी हैं। कल गाजियाबाद शहर की एक पॉश सोसायटी में एसी ब्लास्ट हो गया। परिवार ने खिड़की से कूदकर अपनी जान बचाई। वसुंधरा इलाके की एक पॉश सोसायटी में आग लगने की घटना में 2 मंजिला इमारत जलकर राख हो गई थी।

 

इससे पहले नोएडा के सेक्टर-100 स्थित लोटस बुलेवार्ड सोसायटी में एसी फटने से एक घर में आग लग गई थी। पंजाब में घर की छत पर रखा एसी कंप्रेसर बम की तरह फटा और बाहरी हिस्सा जलकर राख हो गया। इससे पहले नोएडा के सेक्टर-63 स्थित एक आईटी कंपनी के दफ्तर में एसी फट गया था।

 KINATIC

 राजस्थान में एसी फटने से हुई थी पति-पत्नी की मौत
आपको बता दें कि इस बार गर्मियों में जहां एसी फटने से आग लगने की घटनाएं हुई हैं, वहीं लोगों की मौत भी हुई है। पिछले हफ्ते राजस्थान में एसी फटने से एक बुजुर्ग दंपत्ति की मौत हो गई थी। दोनों सो रहे थे तभी एसी फट गया और दम घुटने से दोनों की नींद में ही मौत हो गई। हादसे का पता तब चला जब लोगों ने घर में आग की लपटें देखीं, लेकिन दंपत्ति को बचाया नहीं जा सका।

 

मृतकों की पहचान 65 वर्षीय प्रवीण वर्मा और उनकी 60 वर्षीय पत्नी रेणु वर्मा के रूप में हुई है। उनका इकलौता बेटा अपनी पत्नी के साथ थाईलैंड में रहता है और डॉक्टर है। उसके आने के बाद ही मृतक का पोस्टमार्टम किया गया। वहीं घर में एसी फटने से दंपती की मौत की खबर से लोगों में दहशत फैल गई थी।
sonu

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।